मोदी सरकार को समर्थन देने को तैयार कांग्रेस, लेकिन…

0

विपक्ष द्वारा मोदी सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के गिरने के बाद कांग्रेस ने एक मामले में सरकार को समर्थन देने की बात कही है| पार्टी का कहना है कि वे तीन तलाक विधेयक पर सहमती देने के लिए तैयार हैं, लेकिन उससे पहले केंद्र सरकार को उनकी कुछ शर्तें माननी होंगी|

कांग्रेस का मोदी सरकार को समर्थन

यह बात सुनने में शायद थोड़ी अजीब लगे कि कांग्रेस, मोदी सरकार को कैसे समर्थन दे सकती है, लेकिन यह सच है| अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुष्मिता देव ने इस मामले में कहा कि यदि भाजपा सरकार तलाक विरोधी विधेयक में महिला के लिए गुजारा भत्ता का प्रावधान करती है, तो कांग्रेस भी उनका समर्थन करेगी|

सुष्मिता देव ने आगे कहा, “हम तीन तलाक विरोधी विधेयक के खिलाफ में कभी नहीं थे, लेकिन विधेयक का मौजूदा स्वरूप मुस्लिम महिलाओं को नुकसान पहुंचाने वाला है|इस बिल का मुख्य उद्देश्य मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाना है और तीन तलाक की प्रथा को खत्म करना है, लेकिन अगर पति को जेल भेजा जाएगा, तो पीछे उसकी पत्नी कैसे अपना गुजारा करेगी|

गौरतलब है कि इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी समर्थन करने की बात कह चुके हैं| दरअसल राहुल गांधी ने 16 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर महिला आरक्षण विधेयक को संसद में पारित किए जाने के लिए सहयोग की बात कही थी| इसके बाद कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी को पत्र लिखा था और कहा था कि कांग्रेस महिला आरक्षण ही नहीं, बल्कि तीन तलाक, हलाला और राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग संबन्धी विधेयकों पर भी सरकार का साथ दे|

Share.