कांग्रेस ने की मुखर्जी की प्रतिमा स्थापित

0

आमतौर पर भाजपा के पितृपुरुष श्यामाप्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा को हमेशा से भाजपा के कार्यकर्ता ही पूजते हैं, लेकिन देवास में शनिवार को इसकी विपरीत तस्वीर देखने को मिली| यहां नगर निगम के कचरे के ढेर में पड़ी श्यामाप्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा को कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने निकाला और उसे साफ करके महापौर सुभाष शर्मा के घर छोड़कर आए|

वाकया शनिवार दोपहर का है, जब किसी कांग्रेस कार्यकर्ता को इस मूर्ति के कचरे के ढेर में पड़े होने की जानकारी लगी| इसके बाद कार्यकर्ता ने पूर्व सांसद और वरिष्ठ कांग्रेस नेता सज्जन वर्मा को इसकी जानकारी दी| इसके बाद पूर्व सांसद सज्जनसिंह वर्मा और पूर्व देवास विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष मनोज राजानी ने स्थानीय कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर प्रतिमा का दूध से अभिषेक किया| इसके बाद मूर्ति को साफ़ करके उसे महापौर सुभाष शर्मा के बंगले तक पहुंचाया गया|

इस बारे में जानकारी देते हुए पूर्व सांसद सज्जनसिंह वर्मा ने बताया कि इस तस्वीर से भाजपा का चरित्र उजागर होता है| जिन मुखर्जी की भाजपा पूजा करती है, उनकी मूर्ति को शराब की बोतल और कचरे के ढेर में फेंकने से भाजपा की कथनी और करनी का अंतर सामने आता है|

Share.