CWC की बैठक: सोनिया ही रहेगी अंतरिम अध्यक्ष,खुलकर सामने आए बागी

0

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के इस्तीफे की खबरों के बीच आज कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की मीटिंग हो रही है जिसमें कांग्रेस के नेतृत्व करता को लेकर काफी कुछ बातें साफ होने की संभावना है.  CWCकी ये बैठक ऐसे समय में हो रही है जब कई बड़े नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखी चिट्ठी में संगठन में बड़े बदलाव की मांग की है. सूत्रों के मुताबिक, सोनिया गांधी ने कह दिया है कि वो अब आगे पार्टी अध्यक्ष नहीं बने रहना चाहती हैं. वहीं कांग्रेस के बड़े नेता अब बाकी होकर खोलकर गांधी परिवार के सामने हो गए

लाइव अपडेट्स

 

अंग्रेजों से भारत की आजादी से पहले 1885 में बनी कांग्रेस पार्टी के 2020 तक 88 अध्यक्ष रह चुके हैं.

इनमें से 18 अध्यक्ष आजादी के बाद बने हैं.

आजादी के बाद 73 सालों में से 38 सालों तक नेहरू-गांधी परिवार के हाथों में ही कांग्रेस की बागडोर रही है.

प्रतिक्रियाएं

भाजपा नेता उमा भारती ने कहा गांधी नेहरू परिवार का अस्तित्व और उनका राजनीतिक वर्चस्व समाप्त हो गया है. इसलिए अब पद पर कौन रहता है या कौन नहीं इसका महत्व खत्म हो गया है. कांग्रेस को गांधी की ओर वापस लौटना चाहिए, कांग्रेस का नेतृत्व किसी गांधीवादी को करना चाहिए और इन्हें स्वदेशी की ओर लौटना चाहिए जिसमें विदेश का कोई एलीमेंट न हो.

 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जब ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपनी आवाज उठाई थी तो उन पर बीजेपी से सांठ-गांठ का आरोप लगाया गया. लेकिन, जब गुलाम नबी आजाद और कपिल सिब्बल पार्टी के पूर्ण कालिक अध्यक्ष की मांग कर रहे हैं तो उन पर भी बीजेपी से मिलीभगत का आरोप लगाया जा रहा है.  ऐसी पार्टी को कोई नहीं बचा सकता है.

 

सिद्धारमैया ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर पार्टी अध्यक्ष बने रहने या फिर राहुल गांधी को अध्यक्ष पद सौंपने की अपील की है.

कांग्रेस मुख्यालय के बाहर कार्यकर्ता जमा हो रहे हैं जमा हो रहे हैं
 कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक से पहले पार्टी कार्यकर्ता हाथ में बैनर लेकर पहुंच गए 

CWC की इस बैठक में न सिर्फ ये तय हो सकता है कि सोनिया गांधी आगे कांग्रेस का नेतृत्व जारी रखेंगी या नहीं

 सोनिया गांधी ने पार्टी नेताओं को बता दिया है कि उन्होंने अंतरिम अध्यक्ष का 1 साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है और अब पार्टी के अध्यक्ष पद को छोड़ना चाहती हैं.

CWC की ये बैठक सोनिया गांधी को करीब 2 हफ्ते पहले लिखी गई एक चिट्ठी के जवाब के रूप में भी देखी जा रही है

कम से कम 23 नेताओं जिनमें CWC के सदस्य, UPA सरकार में मंत्री रहे नेता और सांसदों ने सोनिया गांधी को संगठन के मसले पर चिट्ठी लिखी थी

सूत्रों के मुताबिक चिट्ठी में कहा गया कि कांग्रेस का फिर उठ खड़ा होना लोकतंत्र के लिए जरूरी है, इसमें बीजेपी के उभार और उसे युवाओं को मिले समर्थन का जिक्र है. चिट्ठी में कहा गया है कि ब्लॉक स्तर से लेकर CWC का चुनाव फिर से हो और प्रभावी सामूहिक जिम्मेदारी वाला सिस्टम बने.

Share.