website counter widget

मुसीबत बना लैपटॉप चलाना

0

मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में मतदान के बाद से ईवीएम में गड़बड़ी का मुद्दा गरमाया हुआ है और लगातार इस पर विवाद की स्थिति बनी है। कांग्रेस द्वारा ईवीएम में गड़बड़ी को लेकर कई बार चुनाव आयोग से शिकायत की जा चुकी है। इस कड़ी में एक और मामला जुड़ गया है| जब स्ट्रांग रूम की सुरक्षा में तैनात एक बीएसएफ जवान को लैपटॉप चलाते हुए देखा गया। इस बात से नाराज़ कांग्रेस ने चुनाव आयोग पर आरोप लगाते हुए कहा है कि वह भाजपा के लिए काम कर रही है।

दरअसल, छत्तीसगढ़ के बेमेतरा जिले के स्ट्रांग रूम के बाहर एक बीएसएफ जवान को लैपटॉप का उपयोग करते हुए कांग्रेस के एक कार्यकर्ता ने देखा और इसकी सूचना पार्टी के अधिकारियों को दी। इस पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल ने निर्वाचन आयोग पर आरोप मढ़ते हुए कहा कि राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुब्रत साहू सरकारी दबाव में आकर भाजपा को संरक्षण प्रदान कर रहे हैं। भूपेश ने सुब्रत साहू की शिकायत भी भारत निर्वाचन आयोग से की है। इस शिकायत को मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुब्रत ने नकार दिया है।

कांग्रेसियों ने बेमेतरा जिले के स्ट्रांग रूम के बाहर भारी हंगामा किया और तत्काल बीएसएफ के जवान को गिरफ्तार कर पूछताछ की मांग की। इस शिकायत के बाद कलेक्टर और जिला निर्वाचन अधिकारी महादेव कावरे ने बीएसएफ के जवान से लैपटॉप जब्त कर लिया और स्ट्रांग रूम की सुरक्षा बढ़ा दी है।

इससे पहले धमतरी जिला मुख्यालय में भी इसी तरह के मामले को लेकर पिछले हफ्ते कांग्रेसियों ने हंगामा खड़ा कर दिया था। यहां के स्ट्रांग रूम परिसर में एक तहसीलदार सहित 3 व्यक्ति लैपटॉप लेकर दाखिल हुए थे। इस मामले में जांच की रिपोर्ट आने पर तहसीलदार को दोषी पाया गया था। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने तहसीलदार को दोषी पाए जाने पर निलंबित कर दिया था।

स्ट्रांग रूम के बाहर कांग्रेस ने मचाया हंगामा

VIDEO : ईवीएम के पास कोई आए तो गोली मार देना

सिंधिया ने ईवीएम को लेकर जताई धांधली की आशंका

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.