सामने आया एक और 1700 करोड़ रुपए का घोटाला

1

देश में बैंक धोखाधड़ी के सिलसिले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। आए दिन नए-नए धोखाधड़ी के नए मामले सामने आते रहते हैं। अब हैदराबाद की एक कंपनी पर बैंकों से 1700 करोड़ रुपए की गड़बड़ी करने का मामला सामने आया है। जांच एजेंसी सीबीआई ने पंजाब नेशनल बैंक की शिकायत पर वीएमसी सिस्टम लिमिटेड के डायरेक्टर्स और प्रमोटर्स के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

वीएमसी सिस्टम लिमिटेड के डायरेक्टर्स और प्रमोटर्स के खिलाफ 539 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का आरोप है। जांच एजेंसी ने इस मामले में वुप्पलापति हिमा बिंदु, वुप्पलापति वेंकट रामाराव और भागवतुला वेंकट रमन्ना पर केस दर्ज किया है। सभी लोग कंपनी के डायरेक्टर और प्रमोटर हैं। इन पर आपराधिक, धोखाधड़ी और फर्जीवाड़े के आरोप हैं।

जांच एजेंसी ने इस मामले में कार्रवाई करना शुरू कर दिया है। इस मामले में बैंक कर्मचारियों की मिलीभगत सामने आई है। पंजाब नेशनल बैंक की शिकायत के मुताबिक, वीएमसी सिस्टम लिमिटेड ने 12 अगस्त 2009 को 1,010,50 करोड़ रुपए की वर्किग कैपिटल क्रेडिट फैसिलिटी ली थी, लेकिन कंपनी ने रकम का इस्तेमाल किसी और कार्य में किया। शिकायत के अनुसार, वीएमसी ने कंसोर्शियम की इज़ाज़त के बिना 43.83 करोड़ रुपए दूसरे खाते में ट्रांसफर किए। एक अप्रैल 2103 से 30 अप्रैल 2014 के बीच यह हेर-फेर किया गया।

पीएनबी ने इस धोखाधड़ी की शिकायत रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से 18 जुलाई 2017 में की थी। कंपनी ने बाद में कहा कि वह ऋण चुकाने में असमर्थ है क्योंकि बीएसएनल पर उसके 262 करोड़ रुपए बकाया है। लेकिन बैंकों को पता चला कि सिर्फ 33.09 करोड़ रुपए का भुगतान बाकी है|

मप्र : नैपकिन खरीदी में लाखों का घोटाला

बैंक ऑफ महाराष्ट्र में करोड़ों का घोटाला

अब नीरव मोदी की बहन पर इंटरपोल की नज़र

Share.