राजगढ़, दमोह और शाजापुर में सांप्रदायिक तनाव

0

मध्यप्रदेश के राजगढ़ , दमोह और शाजापुर में सांप्रदायिक घटनाओं के बाद तनाव बढ़ गया है। राजगढ़ के ब्यावरा में दो गुटों के बीच मारपीट के बाद तनाव बढ़ा। आरोप है कि कुछ लोगों ने शहर में मौजूद मजार की चादर को आग लगा दी, जिसके बाद माहौल बिगड़ गया। वहीं दमोह के फुटेरा इलाके में लड़की से छेड़छाड़ के बाद दो गुटों में हिंसा हो गई, जिसके बाद धारा 144 लागू की गई है। शाजापुर में भी शनिवार के बाद तनाव के बीच ३०० लोगों पर केस दर्ज किया गया है |

क्या है राजगढ़ का मामला ?

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ब्यावरा में कुछ लोगों ने शहर में मौजूद मजार की चादर को आग लगा दी, जिसके बाद शहर में तनाव की स्थिति बन गई। शहर का पूरा बाजार कुछ देर में बंद हो गया और पथराव और आगजनी के साथ तोड़फोड़ की घटनाएं शुरू हो गईं। माहौल बिगड़ता देख भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई। घटना के बाद पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

दमोह में धारा 144 लागू

वहीं दमोह भी सांप्रदायिक हिंसा की आग में झुलस रहा है। दो गुटों के बीच हिंसा दमोह के फुटेरा इलाके में हुई। घटना के पीछे की वजह लड़की से छेड़खानी बताई जा रही है। दरअसल शुक्रवार रात से पूरा विवाद खड़ा हुआ। एक पक्ष की लड़की से दूसरे पक्ष के लड़के ने छेड़छाड़ कर दी, जिसके बाद हालात बिगड़ गए। दोनों पक्षों के बीच जमकर झड़प हुई। मामले ने उग्र रूप ले लिया। उपद्रवियों ने 2 दुकानों को आग लगा दी जबकि दर्जनभर से ज्यादा दुकानों में तोड़फोड़ की गई।  वहीं पुलिस ने दोनों पक्षों के 20 लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की है और उनकी गिरफ्तारी की कोशिश की जा रही है।

शाजापुर में 300 पर केस

वहीं शाजापुर में शनिवार को महाराणा प्रताप जंयती के अवसर पर राजपूत समाज द्वारा नई सड़क से बस स्टैंड तक शौर्य यात्रा निकाली जा रही थी। यात्रा जब मनिहारवाड़ी क्षेत्र में पहुंची तो यहां मदिर के पास बने मंच से जुलूस का स्वागत किया गया। इस बीच कुछ उपद्रवियों ने जुलूस पर पथराव कर दिया। देखते ही देखते दोनों पक्ष आमने -सामने आ गए। विवाद के बाद पुलिस ने 6 केस दर्ज किए हैं। इनमें से दर्जन नामजद आरोपित हैं, जबकि 300 से अधिक आरोपित बनाया है। उत्पातियों की पहचान के लिए पुलिस नई सड़क में लगे सीसीटीवी के साथ ही विवाद के वक्त बनाए वीडियो फुटेज की जांच कर रही है। इसमें पथराव, आगजनी, तोड़फोड़ करते दिख रहे लोगों पर केस दर्ज किए गए हैं। विवाद के समय मौजूद या बेवजह घूम रहे लोगों को भी पुलिस ने पकड़ा। इन पर धारा 151 के तहत कार्रवाई कर जेल भेजा गया है।

Share.