सांता क्लॉज के पते का खुलासा, जानिए

0

आज क्रिसमस का त्यौहार बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है| इस त्यौहार का बच्चे सबसे ज्यादा इंतज़ार करते हैं| उनकी ख्वाहिश होती है कि सांता क्लॉज आएंगे और उन्हें तोहफा देंगे| क्या आप जानते हैं कि कौन हैं सांता, जिनका बच्चे इंतज़ार करते हैं| उनका पता क्या है ? आज हम आपको बता रहे हैं कि सांता कौन थे और वे कहां रहते थे|

ऐसा माना जाता है कि 300 ईसा पूर्व तुर्की के मायरा शहर में संत निकोलस नाम के एक व्यक्ति रहते थे, जो बहुत अमीर थे| वे लोगों की मदद करते थे और उन्हें तोहफा देते थे| बच्चे उन्हें बहुत प्यार करते थे|

 

उनके आसपास जब भी कोई बच्चा परेशान होता था, तब वे एक ख़ास प्रकार की ड्रेस पहनकर बच्चों के पास जाकर उन्हें तोहफा देते थे| ऐसा कहते हैं कि जीसस की मौत के करीब 280 साल पहले संत निकोलस का जन्म हुआ था|

 

 

 

संत निकोलस 17 साल की उम्र में ही पादरी बन गए थे| उनकी मौत के बाद चर्च से जुड़े लोगों ने सेंट निकोलस की इस अच्छी आदत को जारी रखा| उनके दुनिया से जाने के बाद चर्च के लोग चर्च से जुड़े कर्मचारी, गरीबों और बच्चों को छिपकर खाने-पीने की चीजें और उपहार देने लगे| धीरे-धीरे यह प्रथा पूरी दुनिया में फ़ैल गई| कुछ इतिहासकारों का मानना है कि संत निकोलस की मृत्यु 1087 ईसवी में हुई थी| आज यानी क्रिसमस का दिन जीसस के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है इसलिए इस दिन संत निकोलस की आदत के अनुसार उपहार देने की परंपरा निभाई जाती है|

इस वजह से सजाते हैं क्रिसमस ट्री

इस क्रिसमस ऐसे करें अपनों को विश…

यहां सांता नहीं भूत देते हैं क्रिसमस पर तोहफे

Share.