अब उत्तराखंड में तीन बार घुसे चीनी सैनिक

0

चीनी घुसपैठ को लेकर भारत कई बार अपना विरोध जता चुका है। इसके बावजूद चीन अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहा है। पिछले साल चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की थी और अब फिर चीन के सैनिकों द्वारा भारतीय सीमा में आने के जानकारी सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, उत्तराखंड के बाराहोती में चीनी सेना ने अगस्त महीने में तीन बार घुसपैठ की घटना को अंजाम दिया है। रिपोर्ट के मुताबिक चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने पिछले महीने उत्तराखंड के बाराहोती सेंट्रल सेक्टर में तीन बार लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल का उल्लंघन किया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीनी सेना ने 6 अगस्त, 14 अगस्त और 15 अगस्त को घुसपैठ की। कहा जा रहा है कि चीनी सैनिक 400 मीटर से लेकर 4 किमी अंदर तक घुस आए थे। बता दें कि इससे पहले जुलाई माह में भी चीनी सैनिक बाराहोती में एक किलोमीटर अंदर घुस गए थे। चीनी सैनिक उस वक्त भारतीय सीमा में 200 मीटर तक घुस आए थे और लगभग 2 घंटे तक रहे थे। 2013 और 2014 के दौरान भी चीन ने कई बार यहां अवैध रूप से पेट्रोलिंग को अंजाम दिया था।

बता दें बाराहोती का यह क्षेत्र सबसे विवादित जगह है और गैरसैनिक इलाका है। भारतीय सैनिक यहां बिना किसी हथियार और यूनिफॉर्म के पेट्रोलिंग करते हैं। उसी तरह चीनी सैनिक भी इलाके में पेट्रोलिंग करते हैं। यह समतल मैदान दोनों देशों के चरवाहों द्वारा प्रयोग किया जाता है।

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल या वास्तविक नियंत्रण रेखा- LAC

4,057 किलोमीटर लंबी यह सीमा रेखा जम्मू-कश्मीर में भारत अधिकृत क्षेत्र और चीन अधिकृत क्षेत्र अक्साई चीन को पृथक करती है। यह लद्दाख, कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश से होकर गुजरती है। यह भी एक प्रकार की युद्धविराम रेखा है क्योंकि 1962 के भारत-चीन युद्ध के बाद दोनों देशों की सेनाएं जहां तैनात थी। उसे ही लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल मान लिया गया।

Share.