चीन के सरकारी शोध संस्थान के 90 परमाणु वैज्ञानिकों ने दिया अचानक इस्तीफा

0

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग (XI Jinping) की परेशानियाँ लगातार बढ़ रही है. इसी क्रम में चीन (China) के प्रमुख शोध संस्थान में करीब 90 परमाणु वैज्ञानिकों ने अचानक इस्तीफा (Chinese Atomic Center Scientists Resign) देकर सबको चौका दिया है. सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी ने मामले को प्रतिभा पलायन यानी ‘ब्रेन ड्रेन’ करार देते हुए जांच के आदेश दिए हैं. हालांकि अभी तक इस्तीफे की वजह सामने नहीं आई है लेकिन एकाएक हुए इतने इस्तीफे से चीन सहित पूरी दुनिया में ताज्जुब हो रहा है. कहा तो यह भी जा रहा है कि चीनी वैज्ञानिकों के हाथ कुछ अहम जानकारियां लगीं जिसके बाद उन्होंने एक साथ इस्तीफा दिया.

फ्रांस से भरी राफेल ने उड़ान, 29 जुलाई को सेना के बेड़े में शामिल


अब चीन के हेफी शहर में स्थित द साइंटिस्ट ऑफ द इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर एनर्जी सेफ्टी टेक्नोलॉजी (INEST) दुनियाभर में सुर्खियों में है. हेफी इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल साइंस चीन के सर्वोच्च सरकारी शोध संस्थान हैं. इसे चाइनीज एकेडमी ऑफ साइंस के नाम से भी जाना जाता है. यह संस्थान चीन के उन महत्वपूर्ण संस्थानों में से एक है जो अब तक 200 से ज्यादा राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय प्रोजेक्ट्स में अपनी भागीदारी निभाई है.

कोरोना से बेहाल बिहार के पांच सौ गाँव में बाढ़


अब इसमें अंदरूनी कलह की खबर भी है. 600 लोग इस संस्थान में काम करते है . फिलहाल यह वर्चुअल न्यूक्लियर पावर प्लांट बनाने को लेकर चर्चा में रहा था. सूत्रों के मुताबिक संस्थान में फंड की कमी थी और शोधकर्ताओं पर प्राइवेट कंपनियों की भी नजर थी. अब चीनी सरकार मामले की जाँच में जुटी है.

बांग्लादेश राम मंदिर निर्माण के खिलाफ, जानिए एतराज की वजह

Share.