चीन ने बदल दी मस्जिदों की शक्ल

0

स्लाम को लेकर प्रांत से श्री जंग पूरे विश्व भर में अपना असर दिखा रही है .इसी के चलते अब चीन ने अपने देश में मस्जिदों के गुंबद हो को हटाने का फैसला लिया है . इस्लाम के प्रभाव को कम करने के उद्देश्य को लेकर चीन ने अपने देश भर में मस्जिदों की शक्ल बदलने का फैसला किया है. ब्रिटिश टेलिग्राफ में छपी रिपोर्ट की माने तो कल्चरल व्हाइटवाश कैंपेन के तहत चीन में मस्जिदों के गुंबद और अन्य सजावटी हिस्से हटाए जा रहे हैं.

चीन पर पहले भी मुस्लिमों को दबाने और वीगर मुसलमानों को प्रताड़ित करने के आरोप लगते आए हैं.फिलहाल मुस्लिम विरोधी एक और कदम उठाते हुए देशभर की मस्जिदों की शक्ल बदली जा रही है. नीनझिआ प्रोविन्स की राजधानी यीनचुआन के नानगुआन मस्जिद के चमकीले हरे गुंबद और अन्य हिस्सों को या तो बदल दिया गया है या हटा दिया गया है.चीन में ब्रिटिश मिशन की डिप्टी हेड क्रिस्टिना स्कॉट ने सोशल मीडिया पर फोटो शेयर की है जिसमें नानगुआन मस्जिद बिना गुंबद के दिख रही है. उन्होंने लिखा कि ट्रिपएडवाइजर इस मस्जिद में घूमने की सलाह देता है, लेकिन यहां किसी भी व्यक्ति को घूमने की इजाजत नहीं है.

इसके अलावा Little Mecca के नाम से फेमस शहर लिनझिआ की मस्जिद में अरब देशों की तर्ज पर बनाए गए गुंबद को हटा दिया गया है. डेली मेल में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, शी जिनपिंग के चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी के जनरल सेक्रेटरी बनने के बाद से ही चीन में धार्मिक स्थलों के खिलाफ अभियान में तेजी आ गई थी.रिपोर्ट के मुताबिक, बीते कुछ सालों से चीन में तमाम धार्मिक स्थलों पर कार्रवाई के मामले बढ़े हैं. विभिन्न धर्मों के धार्मिक स्थलों को कम्युनिस्ट पार्टी के हिसाब से बदलने की कोशिश की जा रही है. तिब्बती बच्चों को बौद्ध धर्म की शिक्षा लेने से भी चीन में रोका जा रहा है. वहीं, चर्च और मस्जिद से जुड़ी कई गाइडलाइंस जारी की गई हैं. वहीं, करीब 10 लाख मुस्लिमों को चीन में रि-एजुकेशन के नाम पर कैंप में रखा गया है. बता दें कि यह सब कुछ फ्रांस में हुए इस्लामिक विवाद के बाद हो रहा है

Share.