गोलीकांड पर योगी का बयान, पत्नी ने मांगे 1 करोड़

0

उत्तरप्रदेश की लखनऊ पुलिस ने चेकिंग के दौरान कार न रोकने पर गोली चला दी, जिस कारण कार में बैठे व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई|  इस गोलीकांड पर अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बयान सामने आया है| उन्होंने कहा है कि लखनऊ में हुई घटना एनकाउंटर नहीं है| इस घटना की जांच चल रही है| इसके साथ ही उन्होंने कहा, “यदि जरूरत पड़ी तो इस घटना की जांच के लिए सीबीआई के पास भेजा जाएगा|”

एप्पल के मैनेजर विवेक तिवारी को लखनऊ के गोमतीनगर में गोली मारी गई थी| इस मामले में मृतक विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी ने योगी आदित्यनाथ से घटना की सीबीआई जांच की मांग की| इसी के साथ उन्होंने पुलिस विभाग में 1 करोड़ रुपए और नौकरी के मुआवजे की भी मांग की है| विवेक तिवारी की पत्नी कल्पना तिवारी का कहना है कि पुलिस को मेरे पति को गोली मारने का कोई अधिकार नहीं था, यूपी के मुख्यमंत्री यहां आएं और मुझसे बात करें|

वहीं गोली चलने वाले कांस्टेबल के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है| फिलहाल दोनों आरोपी कांस्टेबल को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है|

गौरतलब है कि विवेक आईफोन लॉन्चिंग के बाद अपनी महिला सहकर्मी के साथ लौट रहे थे| रास्ते में पुलिस ने उन्हें गाड़ी रोकने का इशारा किया तो विवेक ने इस पर ध्यान नहीं दिया| कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी ने शक में गोली चला दी, जिससे विवेक की मौत हो गई|

एप्पल के मैनेजर पर आखिर क्यों पुलिस ने चला दी गोली?

Share.