जनआशीर्वाद यात्रा की लोकप्रियता से…       

0

इन दिनों मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान जनआशीर्वाद यात्रा निकाल रहे हैं| इस यात्रा को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है| भाजपा के मीडिया प्रभारी एवं दृष्टि-पत्र समिति के सदस्य गोविन्द मालू ने कहा, “कांग्रेस विकास विरोधी तो है ही कुंठित राजनीतिक सोच वाली और मुद्दा विहीन भी है| उनके पदाधिकारियों और नेताओं का सामान्य ज्ञान, सोच और जानकारी शून्य है | मुख्यमंत्री की जनआशीर्वाद यात्रा की जबरदस्त और ऐतिहासिक लोकप्रियता से कांग्रेसी सन्निपात में चले गए हैं|”   

मालू ने कहा कि कांग्रेस ने अधिसूचना जारी होने से  पहले ही चुनाव आयोग से मांग कर दी कि शासकीय कैलेन्डर प्रतिबंधित करने और प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत बनाए गए आवासों से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के फोटो वाले टाइल्स हटाने के निर्देश दिए जाएं| वस्तुतः कांग्रेस को गरीबों को आवास देने की योजना रास नहीं आ रही है क्योंकि ‘गरीबी हटाओ’ का भाजपा का रोडमेप लोकप्रियता प्राप्त कर रहा है और इसी कारण जनआशीर्वाद यात्रा में महिलाएं, गरीब, मजदूर और किसान बड़ी संख्या में शिरकत कर रहे हैं |

इसी तरह कांग्रेस के एक पदाधिकारी ने राज्यपाल को चिट्ठी लिखकर चुनाव के ठीक पहले 5 हज़ार 485 करोड़ के राजमार्ग का लोकार्पण और शिलान्यास कार्यक्रम रोकने की मांग की | कांग्रेस राज्य में या यूपीए की केंद्र सरकार में गड्ढों और पगडंडियों से ही जनता का वास्ता रहा, विकास इनकी डिक्शनरी में कभी नहीं रहा,दिग्विजयसिंह के समय स्टेट हाईवे अंतिम सांस ले रहे थे तो मनमोहनसिंह के समय राष्ट्रीय राजमार्गों के गड्ढों में जनता कांग्रेस को दफ़न करने का मन बना चुकी थी |

कमलनाथजी के नेतृत्व में जिस तरह कांग्रेस के पदाधिकारी शून्यज्ञान और बुद्धि से काम कर रहे हैं, उससे सिद्ध होता है कि न तो कांग्रेस के पास भाजपा के विकास के पहाड़ के बाद का रोडमैप है और न ही सरकार के खिलाफ कोई मुद्दा| केवल विकास का विरोध और चरित्र हनन की राजनीति कांग्रेस का एजेंडा और शगल बन चुका है |

Share.