website counter widget

Video : ये कैसा व्यवहार ? छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के कन्या आश्रम की घटना

0

छत्तीसगढ़ (Chattisgarh) के कोरिया (Korea)  जिले में कन्या आश्रम का एक वीडियो वायरल हुआ। इस वीडियो में साफ़ तौर पर देखा जा सकता है की किस तरह इस कन्या आश्रम (Barwani Kanya Ashram) की अधीक्षिका का पति आश्रम में घुस कर वहां रह रही एक महिला के कपडे पकड़ कर उसे घसीटता हुआ कमरे से बाहर निकालता है और बाहर सड़क पर छोड़ देता है|

Barwani Kanya Ashram Cleaner Video :

भाजपा में वापस लौटे शत्रुघ्न सिन्हा!

Image result for chattisgarh korea mahila ko ghasita

इस व्यक्ति की पत्नी ही कन्या आश्रम (Barwani Kanya Ashram) की महिला अधीक्षिका है और ये सारा कृत्य उसकी हाजिरी में उसके सामने ही होता है। क्योंकि जैसे ही  अधीक्षिका का पति महिला को खींचते हुए बाहर लता है वैसे ही ये वार्डन कमरे में ताला लगा देती है। ताज़्ज़ुब की बात तो ये है की जिस महिला को धक्के देकर बाहर निकला जा रहा है उसका एक नवजात बच्चा भी है। और उसे भी उस महिला के साथ बहार  फेंक दिया जाता है सड़क पर। और एक महिला के साथ इतना क्रूर व्यवहार होते हुए एक दूसरी महिला देख रही है। देख क्या रही है बल्कि वो खुद ये काम करवा रही है।

रेपिस्ट निकला बड़ा पत्रकार, अब तो जेल जाना पड़ेगा!

Image result for chattisgarh korea mahila ko ghasita

छत्तीसगढ़ (Chattisgarh) के कोरिया जिले में महिला सफाईकर्मी के साथ की गई बदसलूकी का एक वीडियो (Barwani Kanya Ashram Video) सामने आया है। बताया जा रहा है की वायरल हो रहे वीडियो में  जनकपुर के बड़वाही कन्या आश्रम में पदस्थ आश्रम अधीक्षिका सुमिला सिंह के पति रंगलाल छात्रावास में रह रही महिला सफाई कर्मी चंद्रकांता को घसीटते हुए उसके नवजात बच्चे के साथ बाहर निकालते नजर आ रहे हैं। बाद में महिला सफाईकर्मी के पूरे सामान को भी छात्रावास की बच्चियों से कह कर बाहर निकाल दिया गया।

Image result for chattisgarh korea mahila ko ghasita

अधीक्षिका का पति रंगलाल खुद भी प्राथमिक शाला कर्री माडीसरई में पदस्थ हैं। लाज़मी है की कन्या छात्रावास में  रंगलाल की इस हरकत को लेकर सवाल उठ रहे हैं। और उठना भी चाहिए क्योंकि कन्या छात्रावास में पुरुष की मौजूदगी नियम के विरुद्ध है। इस पूरे मामले की जानकारी पीड़िता ने जनकपुर थाने में दर्ज कराई है। कोरिया कलेक्टर डोमन सिंह ने घटना की जानकारी मिलते ही कन्या आश्रम की अधीक्षिका और उसके पति रंगलाल को निलंबित कर दिया है। लेकिन सवाल यही है की इस प्रकार की निर्दयिता की सजा क्या महज़ निलंबन ही है ? खैर इस बात का फैसला करने का हक़ भी जिला कलेक्टर के पास ही है। फिलहाल तो लोगों में बहुत गुस्सा है।

Breaking News : पूर्व मुख्यमंत्री का निधन

Image result for chattisgarh korea mahila ko ghasita

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.