किसान को ज़िन्दा जलाने का मामला

0

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से सटे बैरसिया में दलित किसानों को ज़िन्दा जलाने का मामला अब राजनीतिक रूप लेता जा रहा है। मामला बैरसिया थाने के परसोरिया गांव में गुरुवार का है। यहां दलित किसान किशोरीलाल (60) अपने खेत पर पहुंचा तो उसने देखा कि कुछ लोग जुताई कर रहे हैं। उसने इसका विरोध किया तो दबंगों ने पहले किसान को मारा और बाद में ज़िन्दा जला दिया।

अब इस मामले पर कांग्रेस ने दो सदस्यों का एक दल बैरसिया भेजने का निर्णय लिया है। मामले की जांच के लिए कमलनाथ ने दो सदस्यीय जांच समिति का गठन किया है, जिसमें उन्होंने कैलाश मिश्रा और आसिफ जकी को यह जिम्मेदारी दी है। दोनों बैरसिया जाकर घटनाक्रम की पूरी जांच कर रिपोर्ट तैयार करेंगे।

मामले पर कमलनाथ ने तीखा प्रहार करते हुए कहा कि सीएम शिवराज खुद को किसान पुत्र कहते हैं, लेकिन उन्हें प्रदेश के किसानों की कोई फिक्र नहीं है। कमलनाथ ने कहा कि भाजपा सरकार किसान और दलितों की विरोधी सरकार है। कमलनाथ ने आगे कहा कि भाजपा का सच सामने आ चुका है, अब जनता बेवकूफ नहीं बनने वाली।

Share.