कैबिनेट मंत्री यशोधराराजे सिंधिया खफा, मीटिंग छोड़ दी

0

देश में लगातार बढ़ रहे पेट्रोल-डीज़ल के दाम, बढ़ती बेरोजगारी और एससी-एसटी एक्ट संशोधन का लगातार विरोध झेल रही व अन्य झंझावतों से जूझ रही भाजपा में शुक्रवार को एक और नया झमेला खड़ा हो गया। भाजपा की महत्वपूर्ण बैठक में सभी आला नेता शामिल हुए। शिवराज सरकार की कैबिनेट मंत्री यशोधराराजे सिंधिया भी मीटिंग में पहुंची, लेकिन इतनी महत्वपूर्ण बैठक में राजमाता विजयाराजे सिंधिया की फोटो नहीं दिखने पर यशोधरा नाराज़ हो गईं और बैठक छोड़कर चली गईं।

यशोधरा की यह नाराजगी सभी को जाहिर हो गई, जिससे पार्टी में विवाद खड़ा हो गया। यशोधरा के बैठक छोड़कर चले जाने के बाद जब पार्टी के अन्य बड़े नेता बैठक में पहुंचे, तब उन्हें यह वाकया बताया गया तो वे फ़ोन लगाकर यशोधरा को मानते रहे, परंतु यशोधरा नहीं मानी। हालांकि बाद में बैठक स्थल पर राजमाता विजयाराजे सिंधिया की फोटो लगा दी गई।  भोपाल में आगामी 25 सितंबर को होने वाले कार्यकर्ता महाकुंभ को लेकर शुक्रवार को बैरागढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के दौरे की तैयारियों को लेकर अहम बैठक बुलाई गई है।

यशोधरा की नाराज़गी का कारण राजमाता विजयाराजे सिंधिया की फोटो नहीं लगाना था। जहां बैठक हो रही थी वहां भारतीय जनता पार्टी के सभी दिग्गज नेता जैसे पंडित दीनदयाल उपाध्याय, श्यामाप्रसाद मुखर्जी, अटलबिहारी वाजपेयी एवं कुशाभाऊ ठाकरे की तस्वीर तो लगाई गई थी परंतु राजमाता सिंधिया की तस्वीर नहीं थी। इसी बात से खफा यशोधरा बैठक छोड़कर ही चली गईं।

इस घटना से नाराज यशोधरा ने कहा, “मैं देख रही हूं कि जिन्होंने पार्टी को खड़ा करने के लिए अपना जीवन लगा दिया, उन्हें पार्टी में दरकिनार किया जा रहा है।” वहीं इस बैठक में शामिल होने पहुंचे भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कहा, यशोधरा राजे के बैठक से जाने के मामले में कोई जानकारी नहीं है। प्रदेश अध्यक्ष राकेशसिंह ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

Share.