उत्तर प्रदेश हिंसा पर बोले योगी, कहा कांग्रेस…

0

CAA  को लेकर देश में इस समय हिंसा फैसी हुई है। कई राज्यों में आगजनी की घटनाएं सामने आ रहीं हैं। हिंसा की आग उत्तर प्रदेश में भी फ़ैल गयी है। प्रदेश में बढ़ रही हिंसा का आरोप मुख्यमंत्री योगी ने कांग्रेस पर लगाया है। योगी ने कहा है कि उपद्रवियों की पहचान की जा चुकी है। सभी के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। लखनऊ में कल होने वाले सभी एग्जाम को रद्द कर दिया गया है। बता दें कि देश में उत्तर प्रदेश सहित मध्य प्रदेश, दिल्ली जैसी जगह पर हिंसा की आग फैली हुई है। हाल ही में लखनऊ के हसनगंज इलाके की पुलिस चौकी को उपद्रवियों ने आग के हवाले कर दिया। उत्तर प्रदेश के संभल जिले में भी रोडवेज की बसों में आगजनी की घटना को अंजाम दिया गया। इसके बाद संभल में धारा 144 लागू कर दी गई।

ITA awards के बाद अब IIFA 2020 इंदौर और भोपाल में धूम मचायेगा

लखनऊ में हिंसा के दौरान तीन लोगों को गोली लग गई। हम्मद वकील, वसीम खान और जिलानी को हिंसक प्रदर्शन के दौरान गोली लग गई। तीनों को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल में दाखिल करवाया गया जहां मोहम्मद वकील की इलाज के दौरान मौत हो गई। ये तीनों लखनऊ के हुसैनगंज में हिंसक प्रदर्शन का शिकार हुए थे। वहीं उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अभी भी हिंसक प्रदर्शन जारी है। डॉलीगंज, हजरतगंज और परिवर्तन चौक पर आगजनी की जा रही है। यूपी पुलिस उपद्रवियों पर लगाम लगाने में नाकाम है।

CAA की आग के बाद मोदी सरकार ने लगाया आपातकाल ?

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुई हिंसा को देखते हुए राजधानी लखनऊ में भी इंटरनेट सुविधा बंद करने पर विचार किया जा रहा है। फिलहाल संभल और अलीगढ़ में इंटरनेट सुविधा को बंद कर दिया गया है। वहीं संभल में धारा 144 भी लागू कर दी गई है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में होने वाली हिंसक घटनाओं के पीछे विपक्षी पार्टी कांग्रेस का हाथ है। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हिंसक प्रदर्शन करने वाले उपद्रवियों की पहचान कर ली गई है और अब उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि इस हिंसक घटनाओं में होने वाले नुकसान की भरपाई भी उपद्रवियों से करवाई जाएगी। बता दें की लखनऊ में उपद्रव करने वाले उपद्रवियों पर पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी और आंसू गैस के गोले भी छोड़े लेकिन प्रदर्शनकारियों पर इनका भी कोई प्रभाव नहीं पड़ा।

निर्भया के हत्यारों के साथ उनका वकील भी…

-Prabhat Jain

 

 

Share.