इंदौर में बोहरा समाज ने सुनी 51वें धर्मगुरु की आवाज़

0

इंदौर में मोहर्रम के मौके पर अपनी 10 दिनी वाअज़  के लिए पधारे बोहरा समाज के 53 वें धर्मगुरु ने भारत में रह रहे अपने पूरे समाज को सहभोज दिया। इसके अलावा वाअज़ सुनने के लिए इंदौर में पधारे देशभर के अनुयायियों को भी सैयदना साहब की ओर से ही भोज दिया गया।

इसके अलावा इंदौर के समाजजन के लिए मंगलवार का दिन ऐतिहासिक व अविस्मरणीय रहा। समाजवासियों ने मंगलवार की वाअज़ में 51 वें धर्मगुरु की आवाज़ मुबारक सुनी और परदे पर 51 वें धर्मगुरु के वाअज़ फरमाते हुए फोटो भी देखे। इसके साथ ही इंदौर के समाजजन को 52 वें धर्मगुरु डॉ. सैयदना मोहम्मद बुरहानुददीन मौला की ऑडियो वीडियो वाअज़ का प्रसारण शुरू होते ही 1986 के अशरा मुबारका की याद ताज़ा हो गई, तब इंदौर में मोहर्रम के अशरा मुबारका की नौ दिनी वाअज़ के लिए धर्मगुरु डॉ. सैयदना मोहम्मद बुरहानुददीन मौला इंदौर तशरीफ लाए थे। समाजवासियों ने नम आंखों से 51 वें एवं 52 वें दाजी को याद किया।

वाअज़ का प्रसारण सैफीनगर, बुरहानीया सैफिया मवाईद, एमएसबी स्कूल परिसर, न्यू सैफीनगर मरकज़, सियागंज, बोहरा बाखल, छावनी, बद्री बाग, नूरानी नगर, मसाकिन सोफिया, हसनजी नगर, मल्हारगंज, अम्मार नगर, नजमपुरा, राऊ आदि मस्जिदों व मरकज़ों पर हुआ। इसके लिए बड़ी संख्या में समाजवासी मस्जिदों और मरकज़ों पर उपस्थित थे। बुधवार को मोहर्रम के अशरा मुबारका की आठवीं वाअज़ सैफीनगर मस्जिद में समाज के 53 वें धर्मगुरु डॉ. सैयदना आलीकदर मुफद्दल मौला (त.उ.श.) सुबह 10:30 बजे से फरमाएंगे।

Share.