राजीव गांधी की प्रतिमा पर पोती कालिख

0

साल 1984 के सिख विरोधी दंगों में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के शामिल होने को लेकर पंजाब में हलचल मची है। लुधियाना के सलेम टाबरी में मंगलवार को यूथ अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने राजीव गांधी का विरोध किया। उन्होंने विरोध में पूर्व पीएम राजीव गांधी की प्रतिमा के मुंह पर कालिख पोत दी। वहीं हाथों पर लाल पेंट लगा दिया।

इस घटना को उस वक्त अंजाम दिया गया, जब अकाली दल सहित अन्य कई संगठन पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कालिख पोतने वालों में यूथ अकाली कार्यकर्ता शामिल हैं। कालिख पोतने के दौरान उन्होंने ‘सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है, देखना है ज़ोर कितना बाजु-ए-कातिल में है’ के नारे भी लगाए। उन्होंने कहा कि अब प्रतिमा को सही रूप दिया गया है। मुंह पर कालिख पोती है और हाथ लाल रंगे हैं। उन्होंने सिख कत्लेआम के लिए राजीव गांधी को जिम्मेदार ठहराया है।

इधर घटना का पता चलते ही कांग्रेस नेता मौके पर पहुंच गए। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की प्रतिमा को साफ किया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इस दौरान अकाली दल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। यूथ कांग्रेस ने दोषियों के खिलाफ तत्काल मामला दर्ज करने की मांग की है।

राजीव गांधी पर ‘आप’ का यू टर्न

BJP ने राजीव गांधी को बताया ‘फादर ऑफ मॉब लिंचिग’

राजीव गांधी हत्याकांड : हत्यारों को रिहा करना खतरनाक

Share.