Video : नेता नारे लगाते रहे, लोग हॉर्न बजाते रहे…

0

प्रदेश में विधानसभा चुनाव हारने के बाद पहली बार भाजपा विपक्ष की भूमिका में नज़र आई। प्रदेश में बुधवार को जगह-जगह हुए विरोध प्रदर्शन में भाजपा की 2019 की तैयारियां भी नज़र आईं। मुद्दा राफेल का था, लेकिन इस बहाने भाजपा नेता कुछ इस अंदाज़ में दिखे, जैसे वे 2014 से पहले दिखते थे। भाजपा नेताओं ने इंदौर कलेक्टर कार्यालय के बाहर राफेल के मुद्दे पर आक्रोश जाहिर किया और कांग्रेस को ही खरी-खोटी सुनाई।

भाजपा के इस प्रदर्शन में नगर अध्यक्ष गोपी नेमा सहित भाजपा विधायक महेंद्र हार्डिया और सभी पदाधिकारी शामिल हुए। वहीं भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भी इस धरने में शामिल हुए।

वहीं धरने के दौरान कई तरह की अव्यवस्थाएं भी देखने को मिली। इस विरोध प्रदर्शन में जहां एक ओर भाजपा नेता नारे लगा रहे थे वहीं दूसरी ओर लोग परेशान भी हो रहे थे। भाजपा के धरने के कारण कलेक्टर कार्यालय के बाहर लगभग 2 घंटे तक यातायात भी बाधित रहा, जिससे आम लोगों को परेशानी ज़रूर हुई।

कांग्रेस के मुंह पर पुत गई कालिख- विजयवर्गीय

विजयवर्गीय ने इस मौके पर कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने राफेल डील को लेकर जो फैसला दिया है, उससे कांग्रेस के मुंह पर कालिख पुत गई है। फिलहाल कांग्रेस के पास कोई मुद्दा नहीं है इसलिए वह राफेल के नाम से प्रधानमंत्री को बदनाम कर रही है। सुप्रीम कोर्ट के इस निर्णय से प्रधानमंत्री नहीं बल्कि राहुल गांधी और कांग्रेस का असली चेहरा उजागर हुआ है।

राजस्थान में फिर होंगे चुनाव…

भूपेश बघेल ने कांग्रेस में ला दी आंधी

मुख्यमंत्री कमलनाथ के साथ इन्हें मिलेगा मंत्री पद

Share.