भाजपा विधायक को मंत्री से खतरा

0

रीवा जिले के सेमरिया से भाजपा विधायक नीलम मिश्रा ने उद्योग मंत्री राजेंद्र शुक्ला पर गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि मंत्री के दबाव में पुलिस मुझे और मेरे पति जिला पंचायत अध्यक्ष अभय मिश्रा को फंसा रही है। विधायक ने आईजी को पत्र लिखकर जान का खतरा बताते हुए सुरक्षा की गुहार लगाई है।

विधायक ने पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) को पत्र लिखकर कहा कि वर्तमान में पुलिस की गतिविधियों से मुझे और परिवार की जान को खतरा है। स्थानीय विधायक होने के नाते मेरे द्वारा अवैध खनन का विरोध किया जा रहा है, यह खनन मंत्री राजेंद्र शुक्ला के संरक्षण में चल रहा है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि बीते चार वर्षों से उनके क्षेत्र में किसी तरह के विकास कार्य भी नहीं होने दिए जा रहे हैं। जिले की सारी कमान मंत्री के हाथ में है, जिस कारण सेमरिया क्षेत्र का विकास बर्बाद हो गया है। हत्या, दुष्कर्म जैसे अपराधों में बढ़ोतरी हो रही है।

नीलम ने अपने पत्र में अनेक हत्याकांडों का जिक्र किया और कहा कि मेरे पति लगातार इन वारदातों के खिलाफ आवाज उठाते आ रहे हैं। उनका फर्जी एनकाउंटर करवाया जा सकता है। महिला विधायक के पति अभय मिश्रा भाजपा से विधायक रहे हैं और जिला पंचायत अध्यक्ष हैं। उन्होंने भाजपा छोड़कर कांग्रेस का दामन थाम लिया है।

वहीं आज सदन में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह द्वारा विधायक नीलम मिश्रा के समर्थन में बात उठाने के आधे घंटे बाद ही उनके पति अभय मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया गया। विधायक नीलम मिश्रा आज सदन में धरने पर बैठ गई। उनके समर्थन में कांग्रेस की महिला विधायक भी धरने पर बैठ गईं। इसके चलते विधानसभा की कार्रवाई 10 मिनट के लिए स्थगित करनी पड़ी। गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने उन्हें सदन पर ही आश्वस्त किया है कि उनके पति को पूरी सुरक्षा दी जाएगी। रीवा एसपी से बात की जाएगी। इसके बाद विधायक नीलम मिश्रा ने अपना धरना खत्म किया।

Share.