Video: आखिर भाजपा विधायक ने अपनी पार्टी के बारे में क्या कहा?

2

प्रदेश में विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद अब सभी नेताओं की टीस निकलकर सामने आ रही है। चुनाव में क्षेत्र क्रमांक 3 से हटाकर महू भेजी गई भाजपा विधायक उषा ठाकुर ने इस चुनाव में तो अपने नेताओं को लेकर कुछ नहीं कहा, लेकिन अब पार्टी के बड़े नेता के साथ उनकी रार भी सामने आई है।

https://www.youtube.com/watch?v=uJ6rLhFHKWc

विधायक ठाकुर ने अपनी पार्टी को घेरते हुए वंशवाद के आरोप लगाए हैं। सोशल मीडिया पर इसका वीडियो भी वायरल हो रहा है। इस वीडियो ने भाजपा में हड़कंप की स्थिति पैदा कर दी है। ठाकुर ने अपनी ही पार्टी पर जो आरोप लगाए हैं, उसके बाद बड़े नेता भी सोचने पर मजबूर हो गए हैं।

वीडियो में पार्टी द्वारा उषा ठाकुर का विधानसभा क्षेत्र बदलने पर उनका दर्द छलकता हुआ दिखाई दे रहा है। उषा ठाकुर महू के कुछ वरिष्ठ लोगों से बात करते हुए नज़र आ रही हैं। ठाकुर का कहना है कि राजनीति मेरा मिशन है। मैंने कमीशन के लिए राजनीति नहीं की। आप सब जानते है कि मुझे साठगांठ के तहत नहीं भेजा गया।

जो वंशवाद का ग्रहण कांग्रेस को था, वही अब बीजेपी को भी लग गया है। क्षेत्र में उन लोगों को भेज दिया गया, जिन्हें कोई जानता नहीं, जिनकी कोई पहचान नहीं, लेकिन परिवारवाद के कारण उन्हें राजनीति में उतार दिया गया।

उन्होंने अपने साथ हुए अन्याय का ज़िक्र करते हुए कहा कि पार्टी अध्यक्ष को सेट कर मेरा विधानसभा क्षेत्र ही बदल दिया गया। नंबर 3 से मुझे महू भेज दिया। यह राजनीतिक अन्याय है।

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में इंदौर विधानसभा 3 से इस बार भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय को उतारा गया था। वहीं महू से कैलाश विजयवर्गीय की जगह उषा ठाकुर को दी गई थी। हालांकि यह वीडियो चुनाव से पहले का बताया जा रहा है, जब वे अलग-अलग संगठनों के साथ बैठक कर रही थीं, लेकिन  चुनाव के ठीक बाद सामने आए इस वीडियो ने भाजपा में बढ़ती लड़ाई को साफ कर दिया है|

Video: भाजपा कार्यकर्ता बोले, विधायक उषा ठाकुर ने की मेरी मानहानि

दुष्कर्मी फांसी के ही हक़दार हैं- उषा ठाकुर

महू में उषा के लिए खड़ी हुई मुसीबत

Share.