बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस की जंग में बंगाल के हालात बेक़ाबू

0

पश्चिम बंगाल (west bengal)  में सियासत के चलते हिंसा की वारदातें लगातार जारी है| बीजेपी (bjp) और तृणमूल कांग्रेस (Trinamool Congress) के बीच उग्र होती सियासत की भेंट कार्यकर्ता चढ़ रहे हैं| शनिवार को 24 परगना में हुई हिंसक झड़प में बीजेपी के कार्यकर्ताओं के अंतिम संस्कार को लेकर पुलिस और बीजेपी के स्‍थानीय नेताओं के बीच तनाव जारी रहा |

बशीरहाट में रविवार को अंतिम दर्शन के लिए तीनों कार्यकर्ताओं के शवों को पार्टी कार्यालय ले जाया जा रहा था| पुलिस ने उन्हें रास्ते में रोका और गुस्साए बीजेपी के स्‍थानीय नेताओं ने बशीरहाट में 12 घंटे के बंद की घोषणा कर दी| पूरे पश्चिम बंगाल में सोमवार को काला दिवस के तौर पर मनाने का ऐलान भी किया| मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीजेपी के नेता राहुल सिन्हा ने इस बात की जानकारी दी कि पार्टी ने सोमवार को बशीरहाट में 12 घंटे का बंद और पूरे राज्य में काला दिवस मनाने का निर्णय लिया है|

कमलनाथ लेंगे विधायक पद की शपथ

 

वहीं हुगली से बीजेपी की सांसद लॉकेट चटर्जी ने कहा कि मारे गए कार्यकर्ताओं के शवों को पार्टी कार्यालय ले जाना चाहते थे लेकिन ममता की पुलिस ने कहा कि अंतिम संस्‍कार मृतकों के गांव में ही होगा| चटर्जी ने चेतावनी दी कि पुलिस यदि यहां से नहीं हटती है तो सड़क पर ही अंतिम संस्कार किया जाएगा| बीजपी और टीएमसी के बीच चल रही खींचतान को लेकर पश्चिम बंगाल के गवर्नर केसरी नाथ त्रिपाठी ने भी गहरा अफसोस जताया है|

मंत्री ने किया रेप के नेचर का बखान

इसके साथ ही राहुल सिन्हा ने कहा कि पुलिस की भूमिका को लेकर पार्टी कोर्ट जाएगी| हालांकि उन्होंने बाद में यह भी स्पष्ट किया कि फिलहाल के लिए मृतकों के शवों को लेकर उनके घर जाया जा रहा है| गौरतलब है कि सियासी हिंसा में बीजेपी कार्यकर्ताओं के मारे जाने का सिलसिला एक लम्बे अरसे से जारी है|फ़िलहाल इस हिंसा के बाद तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की चहुंमुखी निंदा हो रही है|

भोपाल से इंदौर आये अधिकारी को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते पकड़ा

Share.