कोरोना से बेहाल बिहार के पांच सौ गाँव में बाढ़

0

बिहार जहाँ एक ओर कोरोना की मार झेल रहा है वहीँ बारिश ने बिहार की हालत और खस्ता कर दी है. सूबे के ज्यादातर इले बाढ़ की चपेट में है और नदिया खतरे खतरे के निशान के ऊपर बह रही है. इसी बीच गोपालगंज में सारण मुख्य तटबंध तीन जगहों पर टूटने से स्थिति और भयावह हो गयी है. मांझा प्रखंड के पुरैना, बरौली प्रखंड के देवापुर और बैकुंठपुर के पुरैना में तटबंध टूटने से तक़रीबन पांच सौ गाँव प्रभावित हो गये हैं. राहत और बचाव कार्य चल रहे है और फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर लाया जा रहा है.

फ्रांस से भरी राफेल ने उड़ान, 29 जुलाई को सेना के बेड़े में शामिलb

बारिश के कारण बिहार का संपर्क दुसरे राज्यों से टूट गया है जिसके कारण मुसीबत और बढ़ गई है वहीँ कोरोना की रफ़्तार बी बढ़ गई है. दिल्ली से असम को जोड़नेवाली ईस्ट एंड वेस्ट कॉरिडोर यानी एनएच 28 बंद है. वहीं तटबंध के टूटने से गोपालगंज में गंडक का करीब 4 लाख क्यूसेक पानी निचले इलाकों में भर गया मध्य रात्रि जैसे ही बांध टूटा तो अफरातफरी मच गयी. समस्या में बारिश भी लगातार होती रही साथ ही कोरोना में बेघर लोग कही जाने के भी नही रहे

‘सत्य का सफर, राहुल गांधी के साथ: पीएम की नाकामयाबी पर राहुल के बोल

फिलहाल -मांझा प्रखंड के पुरैना में सारण मुख्य तटबंध टूटा

  1. -मांझा प्रखंड के पुरैना गांव के पास रिंग बांध टूटा
    -बरौली के देवापुर में सारण मुख्य तटबंध टूटा
    -बरौली प्रखंड के देवापुर में रिंग बांध टूटा
    -जादोपुर के राजवाही में गाइड बांध टूटा
    -बैकुंठपुर प्रखंड के पुरैना में सारण मुख्य बांध टूटा

  1. राम मंदिर भूमि पूजन के लिए तय वक्त अशुभ घड़ी – शंकराचार्य

Share.