इंदौर : भय्यू महाराज की पत्नी बनी ट्रस्टी

0

आध्यात्मिक गुरु भय्यू महाराज की आत्महत्या के बाद ‘श्री सदगुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट’ की जिम्मेदारी उनके आश्रम के सदस्य और ट्रस्टी मिलकर संभाल रहे हैं| अब ट्रस्ट में महाराज की दूसरी पत्नी आयुषी को ट्रस्टी बना दिया है| ट्रस्ट के सामने यह प्रस्ताव विनायक दुधाले ने रखा था, जिसे ट्रस्टियों ने स्वीकार कर लिया| ट्रस्ट के सचिव ने इस फैसले को रजिस्टर करने के लिए कलेक्टोरेट में आवेदन भी भेज दिया है|

दरअसल, भय्यू महाराज के सुसाइड नोट में लिखा था कि उन्होंने अपना उत्तराधिकारी विनायक दुधाले को चुना है| इसके बाद भी उनके भक्तों और सेवादारों ने इस फैसले पर कई सवाल उठाए थे, लेकिन अब विनायक की ही बात मानकर आयुषी को ट्रस्टी बनाया गया है| ट्रस्ट की 28 जून को हुई साधारण सभा में ही उनके ट्रस्टी बनने के प्रस्ताव को पास कर दिया गया था| दरअसल, कोल्हापुर के दिलीप माधवराव भांडवलकर ने स्वास्थ्य कारणों से 22 जून को ट्रस्टी पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद उनकी जगह आयुषी को ट्रस्टी का स्थान दिया गया है|

सचिव ने रजिस्ट्रार को प्रस्ताव का पत्र भेजा, जिसके साथ उन्होंने अपनी संपत्ति का सालाना हिसाब-किताब भी भेजा| इसमें जमीन, वाहन, फर्नीचर सहित एक-एक चीज का ब्योरा देते हुए बताया है कि ट्रस्ट की इंदौर शाखा के पास 1 करोड़ 46 लाख रुपए की संपत्ति है। अन्य शाखाओं को मिलकर कुल संपत्ति कागजों पर डेढ़ करोड़ के करीब है|

महाराज की संपत्तियों में 20 से अधिक जमीनों की जानकारी भी दी है। यह 76 एकड़ से ज्यादा है| इसके अलावा कई वाहन एम्बुलेंस, बोलेरो कार, बस, इनोवा कार, पजेरो स्पोर्ट कार, स्कूल बस, मेक्सिमो माइन कार, टाटा मैजिक, मोटरसाइकिल शामिल है| ट्रस्ट ने आश्रम में लगे ऐसी, सीसीटीवी, एलईडी, मोबाइल व अन्य फोन की भी जानकारी रजिस्ट्रार को भेजी है|

भय्यू महाराज की पत्नी और बेटी में दूरियां दिखीं

भय्यू महाराज का सीए तलब..

Share.