एससी-एसटी एक्ट का विरोध, यह सवर्णों का गांव है, वोट मांगने न आएं

0

देश में आज कांग्रेसियों ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में भारत बंद का ऐलान किया है| इस दौरान देश में कई घटनाएं हो रही है| ऐसे ही कुछ सवर्णों ने भी एससी-एसटी एक्ट के विरोध में भारत बंद किया था| उस समय भी देश में कई हिंसक घटनाएं हुई थीं| अब सवर्णों ने अपने विरोध का एक नया तरीका निकाला है| दरअसल, उत्तरप्रदेश के देवरिया के एक गांव में लोगों ने बैनर लगा दिए हैं कि यह सवर्णों का गांव है, कृपया यहां वोट मांगने न आएं|

इस गांव में अनुसूचित जाति के भी कई लोग रहते हैं, लेकिन किसी ने भी अभी तक इसका विरोध नहीं किया| भलुअनी विकासखंड के सोनाड़ी गांव में इंटर कॉलेज पर पोस्टर लगाया गया है| पोस्टर की एक तरफ लिखा गया है ‘एससी-एसटी एक्ट का हम विरोध करते हैं’ वहीं दूसरी तरफ लिखा है ‘आरक्षण मुक्त भारत|’

पोस्टर में लिखा गया है,“सभी राजनीतिक पार्टियों से निवेदन है कि उनका इस गांव में प्रवेश वर्जित है| यदि कोई अप्रिय घटना होगी तो इसके जिम्मेदार वे स्वयं होंगे – समस्त ग्रामवासी|” इस बारे में गांव के रहने वाले सुधीर सिंह ने बताया कि सवर्ण मतों के सहारे सत्ता पाने वाली  भाजपा सरकार के आने के बाद वे हमारा ही नुकसान कर रहे हैं| अब इसे स्वीकारा नहीं जाएगा| वहीं ग्राम रायपुरिया में पिछड़ा वर्ग तथा सामान्य वर्ग के लोगों ने भी गांव में पोस्टर लगाए हैं और उस पर लिखा है कि यह गांव सामान्य व पिछड़ा वर्ग का भी है और इस गांव में कोई भी राजनीतिक पार्टियां वोट मांगकर हमें शर्मिंदा न करे|

भारत बंद LIVE : सवर्णों का बंद का आह्वान, बिहार में आगजनी, मध्यप्रदेश में भी असर  

भारत बंद: जहांनाबाद में प्रदर्शन के कारण जाम में फंसी एंबुलेंस, बच्ची की मौत

आसमान छू रही पेट्रोल-डीजल की कीमतें, 88 रुपए प्रति लीटर हुआ भाव

Share.