Video: भारत बंद, सड़क पर दवा व्यापारी, 35 लाख मेडिकल स्टोर्स बंद…

0

भारत में बंद का सिलसिला लगातार जारी है| कभी आरक्षण को लेकर तो कभी संविधान में बदलाव को लेकर भारत बंद| इस दौरान कई हिंसक घटनाएं होती हैं, जिससे देश की अर्थव्यवस्था को भी नुकसान होता है| अब अपने अधिकारों और कारोबार की सुरक्षा को लेकर देश के सात करोड़ दवा व्यापारियों ने आज भारत बंद का आह्वान किया है| कारोबारियों का कहना है कि बंद के दौरान कोई भी हिंसक घटना नहीं होगी| यह बंद वॉलमार्ट, फ्लिपकार्ट डील और रीटेल में विदेशी निवेश के खिलाफ ‘कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स’ ने बुलाया है|

https://yt2fb.com/video/traders-call-bharat-bandh-against-walmarts-acquisi/

‘कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स’ (कैट) ने कहा कि देश के सभी व्यावसायिक बाज़ार आज बंद रहेंगे और कोई व्यावसायिक गतिविधि नहीं होगी| इस बंद में देशभर के सात करोड़ से अधिक छोटे कारोबारियों के हिस्सा लेने की संभावना है|”

बंद में उत्तरप्रदेश शामिल नहीं  

ई-कॉमर्स वेबसाइट और 100 फीसदी एफडीआई के विरोध में व्यापारियों द्वारा बुलाए गए भारत बंद को उत्तरप्रदेश के व्यापारियों का समर्थन नहीं मिला है| दरअसल, व्यापारियों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  से आश्वासन मिल गया, जिसके बाद यह फैसला लिया गया| दरअसल, गुरुवार रात यूपी आदर्श व्यापार मंडल के पांच सदस्यों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और उन्हें अपनी मांग-पत्र सौंपा| इसके बाद सीएम ने उन्हें आश्वासन दिया कि वे उनकी मांगों को खुद केंद्र सरकार तक पहुंचाएंगे| वहीं यह भी कहा जा रहा है कि ‘केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट फेडरेशन ऑफ़ यूपी’ ने प्रदेशभर की दवाई की दुकानों को बंद रखने का फैसला लिया है|

करोड़ों का नुकसान

आज के भारत बंद से देश की अर्थव्यवस्था को करोड़ों का नुकसान होगा| सीडीएफयूपी के अध्यक्ष गिरिराज रस्तोगी ने कहा कि सरकार के भेदभावपूर्ण रवैये की वजह से यह बंदी की जा रही है| ऑनलाइन दवाओं की बिक्री के लिए सरकार कड़ा फैसला ले| इसकी बिक्री पर रोक लगाई जानी चाहिए, इससे कम में समझौता नहीं है|

भारत बंद में शामिल नहीं पुरानी दिल्ली के बाज़ार

इस बंद के दौरान दिल्ली के चांदनी चौक, सदर बाजार, कश्मीरी गेट व खारी बावली समेत अन्य थोक व खुदरा बाज़ार की दुकानें आम दिनों की तरह खुली रहेंगी| हालांकि, बंद को लेकर खरीदारों में भ्रम की स्थिति के कारण कारोबार कुछ सुस्त रह सकता है|

राजधानी इंदौर में भी बंद का असर

इस बंद का प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में भी व्यापक असर देखा गया। इंदौर में शुक्रवार को दवा बाजार सहित सभी मेडिकल स्टोर्स बंद रहे। इस दौरान दवा बाजार व्यापारी एसोसिएशन द्वारा केंद्र सरकार के इस फैसले के खिलाफ प्रदर्शन भी किया गया।  दवा बाजार एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने बताया कि यदि सरकार ई-फार्मेसी कानून के तहत बड़ी कंपनियों को सीधे मरीजों तक दवा बेचने की छूट देती है तो इससे व्यापारियों का नुकसान होगा। उन्होंने कहा यदि इस कानून को वापस नहीं लिया जाता है तो वे आगे उग्र आंदोलन करेंगे।

भारत बंद के दौरान ग्राफ के माध्यम से दी सफाई, अब ट्रोल हुई भाजपा

भारत बंद: जहांनाबाद में प्रदर्शन के कारण जाम में फंसी एंबुलेंस, बच्ची की मौत

भारत बंद LIVE: पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ती कीमतों को लेकर प्रदर्शन, Video

Share.