आज़म खान ने कहा, राम, सीता, अली और बजरंगबली ….

0

जय श्री राम बोलने वाले को जेल भेजने के बयान के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) चौतरफा निंदा का शिकार हो रही है| अब सपा के कद्दावर नेता और रामपुर के सांसद आज़म खान (azam khan ) ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, “ राम से एतराज क्यों इसका जवाब तो वही देंगी| हम तो राम का भी एतराम करते हैं सीता जी का भी करते हैं| हम तो सब का आदर करते हैं|

हम अली का भी आदर करते हैं और बजरंगबली का भी करते हैं| वोट हमें कोई दे या ना दे, लेकिन आदर हम सबका करते हैं| किसने कितना वोट दिया है सारी लिस्ट हमारे पास है, लेकिन सांसद हम सबके हैं| काम हम सबके करते हैं, सबके करेंगे|” वहीं साक्षी महाराज के ममता बनर्जी की तुलना हिरण्यकश्यप के खानदान से करने पर आजम खान ने कहा कि, ‘उन पर जो आरोप लगा है, अभी उसका फैसला नहीं हुआ है, जब वह बेगुनाह साबित हो जाएं, तब बढ़ कर बात करें’|

दबंग दीदी ने किया बीजेपी कार्यालय पर कब्ज़ा, खुद लिखा AITC

आज़म खां से लोकसभा चुनाव में सपा की कमजोर स्थिति को आगे कैसे सुधारेंगे के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, ‘ये तो हमारे नेता लोग जो आदेश करेंगे वैसा किया जाएगा, हम तो नेता हैं नहीं, केवल कार्यकर्ता हैं|’ वहीं सपा की स्थिति पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी और मुस्कुरा कर बोले अब तो सब वक़्त गुज़र गया|

आजम खान ने मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी का गेट तोड़े जाने का अंदेशा जताते हुए कहा ऐसा अन्याय जिसकी कल्पना नहीं की जा सकती, वह यूनिवर्सिटी के लिए हो रही है लेकिन जिस दिन मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी के दरवाजे पर बुलडोजर छूने भी जाएगा उसकी खबर पूरी दुनिया को देखने और सुनने को मिलेगी| आजम खान ने कहा अगर गेट तोड़ा जाएगा तो यह बहुत गैरकानूनी काम होगा क्योंकि विश्वविद्यालय पर उनका स्वामित्व है| जिस जमीन के बारे में लोग कह रहे हैं, वह जमीन उनकी खरीदी हुई जमीन है|

मानसिक संतुलन खो बैठी ममता बनर्जी !

आजम खान ने कहा कि, ‘हमारी जमीन है और हम ही चोर हैं|’ आजम खान ने कहा कि हमने 23/02 /2007 को 40,23,696 रुपया जमा किया है जिसके एवज में 8.277 हेक्टेयर जमीन हमें दी जानी थी, जो मौके पर कम थी| तकरीबन 2 हेक्टेयर जमीन कम थी| आज़म खान ने बताया कि, “आईपीसी 332 में दर्ज हुए मुकदमे का जिक्र करते हुए कहा कि हम पर झूठा मुकदमा कायम हुआ है, इससे अंदाजा लगाएं कि हमारे ऊपर कायम किए गए बाकी मुकदमे कितने सच्चे होंगे|

प्रोजेक्टर लगाकर पूरे उत्तर प्रदेश को दिखाएंगे ओर अगर हो सका तो हम स्पीकर से इजाजत मांगेंगे कि हम संसद में भी उस जुल्म की फिल्म दिखा सके जो रामपुर में जिला प्रशासन और प्रदेश सरकार द्वारा किया जा रहा है| हमारा कोई काम फ़र्ज़ी नहीं है जो लोग हम पर इल्ज़ाम लगा रहे हैं वो लोग फर्जी हैं उनके इल्ज़ाम फ़र्ज़ी हैं, हमने ये ज़मीन उत्तर प्रदेश की सरकार से खरीदी है|”

एक और बम धमाके ने ली कई लोगों की जान

Share.