राम मंदिर पर यह है आंदोलन का प्लान

1

देश में होने वाले आम चुनाव से कुछ महीने पहले राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर उठ गया| सालों से इस मुद्दे पर हो रहा विवाद अधिकतर चुनाव के समय में ही उठता है| अब फिर से मामला गरमा रहा है| मंदिर निर्माण को लेकर अब शिवसेना ने आक्रामक रूप अपना लिया है| वहीं इस मुद्दे पर आरएसएस ने वीएचपी और संतों की मदद से चार चरणों की योजना बना ली है|

वीएचपी की धर्मसभा की शुरुआत रविवार से होगी, जो अयोध्या, नागपुर और बेंगलुरू में होगी|

ये हैं चार चरण 

पहला चरण – 25 नवंबर से देशभर में धर्मसभा का आयोजन किया जाएगा|

दूसरा चरण – साधु-संत मंदिर पर तैयार मसौदे को सांसदों को सौंपेंगे|

तीसरा चरण- राम मंदिर के लिए दिल्ली में 9 दिसंबर को जनसभा आयोजित की जाएगी|

चौथा चरण – 18 दिसंबर से वीएचपी राष्ट्रव्यापी पूजा-अर्चना और हवन कार्यक्रम चलाएगा|

उद्धव ठाकरे पहली बार पहुंचे अयोध्या

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए विश्‍व हिंदू परिषद की कल होने वाली धर्मसभा यानी धर्मसंसद के लिए बड़ी संख्या में कार्यकर्ता अयोध्या पहुंच रहे हैं| वहीं शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे अयोध्या पहुंच चुके हैं| उद्धव ठाकरे पहली बार अयोध्या पहुंच चुके हैं” ठाकरे अपनी पत्नी रश्मि और  बेटे आदित्य के साथ पहुंचे हैं| करीब 3000 शिवसैनिक अयोध्या ट्रेन से आए हैं और कुछ आ रहे हैं| वहां बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं की उपस्थिति को देखते हुए भारी तादाद में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं, जिससे भगवान राम की नगरी अयोध्या किले जैसी लग रही है|

अयोध्या में होने वाली सभा को देखते हुए मुसलमानों में डर का माहौल बना हुआ है| कई मुसलमान डर के कारण वहां से पलायन कर चुके हैं| वहीं इस बारे में कलेक्टर का कहना है कि डर की कोई बात नहीं है|

Share.