website counter widget

Ayodhya Verdict : 200 साल पहले अंग्रेजी हुकूमत में उठा था मंदिर मुद्दा

0

आज अयोध्या विवाद (Ayodhya Dispute Case) पर ऐतिहासिक फैसला (Ayodhya Dispute Case Verdict) आने वाला है। पूरे देशभर में लोगों के मन में कई सवाल, कई कयास, दंगों का भय और फैसला सुनने की उत्सुकता है। गली, मोहल्ले में आज बच्चों से लेकर बड़ों तक के लिए अयोध्या मामला ही बहस का विषय बना हुआ है। कभी न्यूज़ नहीं देखने वाले लोग भी आज टीवी के सामने आखें गढ़ाए बैठे हैं। कई राज्यों में सरकार ने धारा 144 लागू कर दी है। पांच जजों की पीठ आज फैसला सुनाने वाली है, लेकिन क्या आप जानते हैं सर्वप्रथम यह मुद्दा कब उठा था। राम मंदिर (Ayodhya Ram Temple) का मामला पहली बार करीब 206 साल पहले अंग्रेजी हुकूमत में भी उठा था।

Ayodhya Verdict: राम के नाम अयोध्या…

1813 में हुआ था पहली बार राम मंदिर को लेकर दावा

राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद (Ram Mandir Babri Masjid Controversy ) सबसे पहले 1813 में ब्रिटिश हुकूमत के समय उठा था। तब कहा जा रहा था कि वर्ष 1526 में बाबर भारत आया और उसने राम मंदिर को तुड़वाकर बाबरी मस्जिद का निर्माण करवाया था। बाबर के नाम पर ही मस्जिद का नाम बाबरी मस्जिद रखा गया था। उस समय भी मंदिर (Ayodhya Ram Temple Issue) मस्जिद के नाम पर लोगों का खून बहा था। इसके बाद 1813 हिन्दू संगठनों ने ब्रिटिश सरकार (British Government ) के सामने मंदिर का मुद्दा उठाया था। मामला बढ़ता देख सरकार ने साल 1859 में विवादित जगह पर तार की एक बाड़ बनवा दी थी। 1885 में पहली बार राम मंदिर बनवाने की याचिका महंत रघुबर दास द्वारा ब्रिटिश अदालत में पेश की गई। इसके बाद 1934 में हिंसक भीड़ में पहली बार विवादित हिस्सा तोड़ा, जिसकी ब्रिटिश सरकार ने तत्काल मरम्मत करवा दी।

आयोध्या में बनेगा राममंदिर: सुप्रीम कोर्ट

23 दिसंबर 1949 के बाद हिंदुओं ने विवादित स्थल पर रामलला की प्रतिमा रखकर पूजा करनी शुरू कर दी। ऐसा होता देख मुस्लिम पक्ष कोर्ट पहुंचा और उसने वहाँ नमाज पढ़ना बंद कर दिया। साल 1950 में गोपाल सिंह विशारद फैजाबाद की अदालत से विवादित स्थल पर पूजा की मांग की थी। इसके बाद से लगातार इस मुद्दे पर सुनवाई होती गई। मामला एक अदालत से दूसरी अदालत से होता हुआ सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा। जहां एक पर निर्णय लेने के लिए जजों की कई पीठ बदल चुकी है। आज इस मामले पर सीजेआई रंजन गोगाई की अध्यक्षता मे पाँच जजों की बेंच फैसला सुनाने वाली है, जिसका सभी बेसबरी से इंतजार कर रहे हैं।

Ayodhya Verdict Live Updates : अयोध्या में बनेगा राम मंदिर

          – Ranjita Pathare 

 

 

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.