हिज्बुल मुजाहिद्दीन का आतंकवादी एटीएस की गिरफ्त में

0

एंटी टेररिज्म स्क्वॉड ने उत्तरप्रदेश के कानपुर से हिज्बुल मुजाहिद्दीन का एक आतंकी हिरासत में लिया है। गिरफ्तार आतंकी का नाम कमर-उज-जमां उर्फ डॉ.हुरैहा है। उत्तरप्रदेश के आतंकवाद-रोधी दस्ते (एटीएस) को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है क्योंकि बताया जा रहा है कि ये आतंकी  गणेश चतुर्थी पर किसी बड़े हमले को अंजाम देना चाहता था।  रूप से कमर-उज-जमां असम रहने वाला बताया जा रहा है। लखनऊ में हुई प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए डीजीपी ओपी सिंह ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

डीजीपी ने बताया कि “गुरुवार सुबह कमरुज्जमां उर्फ डॉ.हुरैहा को चकेरी थाना क्षेत्र से एटीएस की टीम और कानपुर पुलिस ने से गिरफ्तार किया है। प्रारम्भिक पूछताछ में पता चला है कि उसकी योजना गणेश चतुर्थी पर किसी बड़े हमले को अंजाम देने की थी। ऐसा लगता है कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने इसे रेकी करने के लिए भेजा था। उसके पास से एक वीडियो भी बरामद हुआ है, जो कानपुर के किसी मंदिर का है।

उसने पूछताछ में स्वीकार किया है कि वह हिजबुल के लिए काम करता है।  2017 में इसने ओबामा नाम के आदमी के साथ कश्मीर में ट्रेनिंग ली थी। उसके बाद वह आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के संपर्क में आया और उसके लिए काम करने लगा। कमर-उज-जमां ने हिजबुल की ट्रेनिंग किश्तवाड़ के ऊपरी जंगलों में ली। ” पुलिस इस मामले में गिरफ्तार आतंकी से पूछताछ कर रही है।

पुराने रिकॉर्ड के अनुसार, पुलिस ने बताया कि कमर-उज-जमां ने अप्रैल 2018 में सोशल मीडिया पर एके-47 के साथ अपनी फोटो डालकर सुर्ख़ियों में आया था। तभी से पुलिस इसकी तलाश में थी। फिलहाल पुलिस और एटीएस की मुश्तैदी के चलते बड़ा हादसा टल गया।

Share.