स्मृति स्थल के नजदीक होगा अटलजी का अंतिम संस्कार

0

देश के पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार को निधन हो गया| 93 वर्षीय अटलजी के निधन के बाद उनके पार्थिव देह को अंतिम दर्शनों के लिए उनके आवास पर रखा गया, जहां देश-विदेश के विशिष्टजन ने अटलजी को श्रद्धासुमन अर्पित किए| 7 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया| पूरा देश अटलजी की याद में गमगीन देखा गया, लेकिन अटलजी की अंतिम यात्रा के ऐन पहले तक इस बात की जानकारी नहीं मिल रही थी कि आखिर अटलजी की  पार्थिव देह को मुखाग्नि कौन देगा?

अंत तक बना रहा रहस्य

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी दो महीने से एम्स में भर्ती थे, लेकिन पिछले 36 घंटों के दौरान उनकी सेहत बिगड़ती चली गई। उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था। अटलजी 9 साल से बीमार थे और किसी से बात नहीं करते थे। उनके निधन के बाद उन्हें मुखाग्नि कौन देगा, शाम चार बजे तक भी सस्पेंस का हिस्सा बना रहा|

सभी ने साध रखा है मौन

अटल बिहारी वाजपेयी की पार्थिव देह को कृष्ण मेनन मार्ग स्थित उनके आवास से भाजपा मुख्यालय ले जाया गया| यहां से अंतिम यात्रा शुरू हुई, राजघाट पहुंचने वाली है| स्मृति स्थल के नजदीक अटलजी का अंतिम संस्कार किया जाएगा। इस बीच उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अटलजी की अस्थियां सभी नदियों में प्रवाहित की जाएंगी, लेकिन अंत तक इस बात की जानकारी कोई नहीं दे सका कि अटलजी को अंतिम क्षण में मुखाग्नि कौन देगा ?

Atal bihariji death: भारतीय राजनीति का चमकता सूरज अस्त, श्रद्धांजलि का दौर..

Atalji death: मैं जीभर जिया, मैं मन से मरूं…

Share.