NDA का एक और सहयोगी नाराज़

0

नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस (एनडीए) की परेशानी रुकने का नाम नहीं ले रही है। बिहार के बाद अब उत्तरप्रदेश में भी एनडीए में दरार दिखाई दे रही है। लोकसभा चुनाव से पहले एनडीए में शामिल ‘अपना दल’ ने सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ नाराज़गी (Apna Dal Targets BJP Before Loksabha Election 2019) जताई है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष पटेल ने कड़े शब्दों में कहा है कि यदि नेतृत्व अपने व्यवहार में सुधार नहीं लाता है तो मिशन 2019 एनडीए के लिए कठिन साबित होगा।

अपना दल ने आरोप (Apna Dal Targets BJP Before Loksabha Election 2019) लगाया कि केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल को यूपी में वह सम्मान नहीं मिलता है, जिसकी वे हकदार हैं। पटेल ने कहा, “वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है। इसके बावजूद अनुप्रिया पटेल को वहां आयोजित कार्यक्रमों में नहीं बुलाया जाता है जबकि वाराणसी अनुप्रिया पटेल के संसदीय क्षेत्र मिर्जापुर से सटा हुआ है।“

उन्होंने कहा कि इस तरह के व्यवहार से एनडीए में शामिल दलों के नेता और कार्यकर्ता निराश हैं। यदि पार्टी के प्रदेश नेतृत्व का यही रवैया रहा तो एनडीए को यूपी में सर्वाधिक नुकसान होगा। पटेल ने आगे कहा कि सपा-बसपा का गठबंधन एनडीए के लिए चुनौती है।

हालांकि तमाम आरोपों (Apna Dal Targets BJP Before Loksabha Election 2019) के बीच आशीष पटेल ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को लेकर कहा कि जब भी गठबंधन के विषयों को शाह के सामने उठाया गया, उन्होंने सभी समस्याओं का समाधान ज़रूर किया। यह पूछे जाने पर कि लोकसभा के चुनाव में अपना दल बंटवारे के तहत कितनी सीटों की अपेक्षा करता है| पटेल ने कहा कि यह वक्त आने पर बताया जाएगा, परंतु हमारी ताकत पहले से बढ़ी है। हम सम्मान के भूखे हैं।

एनडीए में दरार, अब चिराग पासवान ने…

उपेंद्र कुशवाहा ने एनडीए से दिया इस्तीफा

लोकसभा चुनाव 2019: एनडीए का सीट शेयरिंग का फॉर्मूला तैयार

Share.