बोर्ड की एक और ग़लती

0

मध्यप्रदेश में शिक्षा के गिरते स्तर को लेकर पहले से प्रश्न खड़े किए जाते रहे हैं| ऐसे में मध्यप्रदेश राज्य शिक्षा केंद्र, कक्षा 10वीं की विज्ञान की पुस्तक के मुख्य पृष्ठ पर मध्यप्रदेश को ही ‘मधय’ प्रदेश लिखकर छाप दे तो किरकिरी होना तय है | हिन्दी प्रदेश में इस तरह की गलती को सामान्य ग़लती नहीं कहा जा सकता है| इन दिनों बोर्ड की इस गलती को सोशल मीडिया पर जमकर प्रचारित किया जा रहा है| हालांकि इस संबंध में बोर्ड की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है|

प्रदेश में कहने को हिन्दी को बढ़ावा देने के लिए अभियान चलाए जा रहे हैं, ऐसे में बोर्ड की इस गलती ने पाठ्यपुस्तक लेखन कार्य के दौरान बरती जाने वाली गंभीरता की पोल खोलकर रख दी है| जब पुस्तक के मुख्य पृष्ठ पर ही मध्य को  ‘मधय’ लिखा गया है तो पुस्तक के भीतर हिन्दी के शुद्ध लेखन की कितनी गलतियां हो सकती है, इस बात पर भी चिंता की जा सकती है|

हिन्दी भाषा और उसके शुद्ध लेखन को लेकर जानकार पहले से कई मर्तबा चिंता जता चुके हैं, लेकिन जिस तरह से केंद्र की पुस्तक के मुख्य पृष्ठ पर ही मध्य को  ‘मधय’ लिखा गया है, यहीं नहीं वह बाजार में भी आ गई, इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि हिन्दी के प्रति खुद हिन्दी भाषा में शिक्षण सामग्री लेखन और प्रकाशन का काम कर रही संस्था ही गंभीर नहीं है|

Share.