स्वाइन फ्लू के कारण पूरे गांव का सामाजिक बहिष्कार

1

आंध्रप्रदेश के एक पूरे गांव का सामाजिक बहिष्कार कर दिया गया। गांव में दो लोगों की स्वाइन फ्लू से मौत की अफवाह फैलने के बाद बहिष्कार किया गया। हालांकि स्थानीय डॉक्टरों का कहना है कि जांच में ऐसा कुछ नहीं निकला है परंतु पड़ोसी गांवों के लोग डॉक्टरों की बात मानने को तैयार नहीं हैं। डॉक्टरों का कहना है कि एक की मौत हार्टअटैक से हुई है। हमें जांच में स्वाइन फ्लू के कोई लक्षण नहीं मिले। 

दरअसल, 45 वर्षीय नामाचार्य और 32 वर्ष की मरियम्मा की कृष्णा जिले के एक गांव में करीब एक सप्ताह पहले मृत्यु हो गई, जिसके बाद अफवाह फैली कि उनकी मौत स्वाइन फ्लू से हुई। इसके बाद इस गांव के लोगों को पड़ोसी गांव में घुसने नहीं दिया जा रहा है। वहीं कोई दूसरा भी गांव में नहीं आ रहा है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्हें बस में बैठने भी नहीं दिया जा रहा है। बच्चों को लेने स्कूल की बसें नहीं आ रही है। गांव में दूध और पानी की सप्लाई बंद हो गई है। बच्चों के स्कूलों की छुट्टी कर दी गई है। कलेक्टर ने स्थिति का जायजा लिया है। एक मेडिकल टीम को जांचने और पड़ोसी गांववालों के शक को दूर करने के लिए गांव में भेजा है।

स्वाइन फ्लू से महाराष्ट्र में हुई 325 मौतें

घरेलू नुस्खे जो बचाएंगे स्वाइन फ्लू से

देश में जानलेवा स्वाइन फ्लू का कहर जारी

Share.