मुंबई का 26/11 हमला : अमरीका का बड़ा ऐलान

2

मुंबई के 26/11 हमले से जुड़ी दर्दनाक यादें आज भी लोगों के ज़ेहन में है| आज इस हमले की 10वीं बरसी है| इस मौके पर अमरीका ने बड़ा ऐलान किया है| अमरीका ने इस हमले के गुनहगारों की जानकारी देने वाले को 35 करोड़ रुपए का इनाम देने की घोषणा की है| अमरीकी विदेशमंत्री माइक पोम्पियो ने सोमवार को कहा कि भारत में हुए इस हमले पर हम सभी अमरीकी नागरिकों की ओर से संवेदना जताते हैं| इस दर्दनाक हमले में अपनी जान गंवाने वाले 6 अमरीकी नागरिकों सहित सभी पीड़ित लोगों के प्रति हम संवेदना जताते हैं| इस हमले ने पूरी दुनिया को दहला दिया था|

पाकिस्तान को दी नसीहत

इसी के साथ माइक पोम्पियो ने इस मौके पर पाकिस्तान को नसीहत भी दी| उन्होंने कहा कि लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकी संगठनों पर पाकिस्तान की सरकार को कड़ा कदम उठाना चाहिए| अमरीका ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का हवाला देते हुए कहा कि पाकिस्तान इस हमले के दोषी लोगों को सख्त सज़ा दे| हमले के दोषियों का अब तक न पकड़ा जाना अपनों को खोने वालों का अपमान है|

गौरतलब है कि 10 वर्ष पहले आज ही के दिन 26 नवंबर 2008 को लश्कर के 10 आतंकियों ने मुंबई पर हमला कर पूरी दुनिया को दहला दिया था| इस हमले में 166 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी| हमले में 6 अमरीकी सहित कुल 28 विदेशी नागरिकों ने अपनी जान गंवाई थी|

हथियारों से लैस सभी आतंकी कोलाबा के मछली बाज़ार से मुंबई में घुसे थे| मछली बाज़ार से बाहर निकलते ही ये आतंकी 2-2 की टोलियों में बंट गए थे| आतंकियों ने अपनी-अपनी लोकेशन पर घुसते ही फायरिंग और धमाके करने शुरू कर दिए थे| इनसे निपटने के लिए केंद्र की ओर से 200 एनएसजी कमांडो भेजे गए थे| सेना के भी 50 कमांडो इस ऑपरेशन में शामिल थे| इसके अलावा सेना की पांच टुकड़ियों को भी वहां भेजा गया|

26/11 हमले के दोषी हेडली पर हमला

26/11 हमले पर बोले प्रधानमंत्री मोदी

26/11 : जब ना’पाक’ आतंकियों ने बरसाया था कहर

Share.