website counter widget

नीरव-माल्या को भगाने में मददगार थे आलोक वर्मा!

0

सीबीआई (CBI) के पूर्व निदेशक आलोक वर्मा (Alok Verma) को लेकर फिलहाल बवाल थमा नहीं है | रिश्वतखोरीऔर पशु तस्करों की मदद करने के आरोप को लेकर उन्हें पद से हटाया गया है | इस मामले की जाँच केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC) कर रहा है | इन आरोपों के बाद अब उन पर भगोड़े आर्थिक अपराधी विजय माल्या और फरार हीरा व्यापारी नीरव मोदी की मदद करने का इल्जाम भी है | खबरों की माने तो सीवीसी ने उन पर 6 और आरोपों की जांच शुरू कर दी है जिनमे माल्या और नीरव को भगाने में मदद भी शामिल है|

बैंक घोटालों (Bank Scam) के आरोपी नीरव मोदी(Nirav Modi), विजय माल्या (Vijay Mallya) और एयरसेल के पूर्व प्रमोटर सी शिवशंकरन के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर के आंतरिक ईमेल को लीक करने का आरोप मुख्य है | खबर के अनुसार आलोक वर्मा पर लगे नए आरोपों के संबंध में सीवीसी ने सरकार को भी आगाह किया है | पिछले साल 12 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट के सामने वर्मा की जांच रिपोर्ट की गई जिसे लेकर एंटी करप्शन टीम ने आपत्ति दर्ज करवाई थी | वर्मा के खिलाफ उनके ही पूर्व नंबर दो विशेष निदेशक राकेश अस्थाना ने कुल 10 आरोप लगाए थे जिनकी जांच के आधार पर आगे की कार्यवाही की जा रही है |

बता दें कि एक दूसरे पर आरोप लगाने वाले सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना दोनों इन दिनों जांच के घेरे में है | सीबीआई ने अस्थाना के खिलाफ 3 करोड़ रुपये की रिश्वत लेने के आरोप में 15 अक्टूबर को शिकायत दर्ज की थी| वर्मा पर आरोप हैं कि उन्होंने 2015 में विजय माल्या के खिलाफ जारी लुकआउट सर्कुलर को कमजोर किया था जिसकी मदद से माल्या को देश छोड़कर भागने में आसानी मिली |

अभिषेक

बुआ-बबुआ आज कर सकते है गठबंधन का ऐलान

नीरव-माल्या को भगाने में मददगार थे आलोक वर्मा!

कांग्रेस नेत्री ट्विंकल डागरे हत्याकांड का पर्दाफाश

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.