नए सत्र से पहले क्यों बुलाई सर्वदलीय बैठक?

0

देश में जिस दिन पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के परिणाम आने वाले हैं, उसी दिन से संसद के शीतकालीन सत्र की भी शुरुआत हो रही है| सदन में मंगलवार से शुरू हो रहे सत्र में किसी प्रकार का कोई विवाद न हो और कामकाज शांति पूर्ण चले, इसीलिए सरकार द्वारा सर्वदलीय बैठक बुलाई गई| इस बैठक में सभी पार्टी के नेता पहुंचे| केंद्र सरकार द्वारा सरकारी कामकाज के लिए विपक्ष का समर्थन मांगा गया| 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव के कारण ही सत्र की देरी से शुरुआत हो रही है|

संसद के शीतकालीन सत्र से पहले बैठक

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले संसद का यह अंतिम पूर्ण सत्र है, जिसकी कार्रवाई पर पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के परिणाम असर डाल सकते हैं| कहा जा रहा है कि संसद के शीतकालीन सत्र में इस बार सरकार राज्यसभा में लंबित ट्रिपल तलाक बिल को पारित करने पर ज़ोर दे सकती है|

पीएम की सहयोग की अपील

सर्वदलीय बैठक को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी पार्टी के नेताओं से सहयोग की अपील की| उन्होंने कहा, “जो बिल अटके हैं वो पास होने चाहिएं और इसके लिए हम रात तक भी काम करने को तैयार हैं| सरकार जनहित से जुड़े सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए तैयार है|”

बैठक में गृहमंत्री राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, फ़ारुख अब्दुल्ला, गुलाम नबी आज़ाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, भगवंत मान, प्रेम सिंह चंदू माजरा, डेरेक ओ ब्रायन, अनुप्रिया पटेल, सुदीप्त बंद्योपाध्याय, चंद्र कांत खैर (शिवसेना), वाई एस चौधरी(टीडीपी), चिराग पासवान, जयप्रकाश यादव, संजय सिंह (आप) नरेंद्र सिंह तोमर, अर्जुन मेघवाल और विजय गोयल, सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव भी पहुंचे|

क्या ‘शिव’ की नकल कर गए ‘नाथ’ ?

रिज़ल्ट का इंतज़ार, बैंड-बाजे तैयार

विधानसभा चुनाव परिणाम के लिए इंतज़ार !

Share.