राहुल का साथ नहीं देंगे अखिलेश

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को मध्यप्रदेश में समर्थन देने वाले समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक मामले में अपना पल्ला झाड़ लिया है| वे राहुल गांधी का साथ नहीं दे रहे हैं| दरअसल, सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद देश में अभी राफेल डील सुर्ख़ियों में बनी हुई है| इस मामले में कोर्ट ने केंद्र सरकार को राहत देते हुए राफेल मामले को क्लीनचिट दे दी है| कोर्ट का फैसला आने के बाद से कई लोगों के बयान आने शुरू हो गए|

जहां केंद्र की मोदी सरकार ने फैसले के बाद कांग्रेस और राहुल गांधी पर जमकर प्रहार करना शुरू कर दिया, वहीं समाजवादी पार्टी ने भी इस मुद्दे पर राहुल का साथ नहीं दिया| अखिलेश यादव ने कहा कि राफेल पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आखिरी है| इस पर टिप्पणी करना अब ठीक नहीं है, लेकिन अब भी यदि किसी को लगता है तो उसे अपनी बात सुप्रीम कोर्ट में ही रखनी चाहिए| उन्होंने आगे कहा कि हमारी अब जेपीसी की मांग नहीं है| यह मांग तब थी, जब मामला सुप्रीम कोर्ट में नहीं आया था|

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बाद शनिवार को पीएसी (लोक लेखा समिति) के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, “मैं लोक लेखा समिति के सभी सदस्यों से अनुरोध करूंगा कि अटॉर्नी जनरल और सीएजी को यह बात पूछने के लिए तलब करें कि राफेल सौदे पर सीएजी की रिपोर्ट कब संसद में पेश की गई|”

Share.