राम मंदिर का भूमि पूजन संविधान का उल्लंघन- ओवैसी

0

अयोध्या राम मंदिर भूमि पूजन पर 5 अगस्त को अयोध्या जाने वाले पीएम मोदी को अब सांसद असदुद्दीन ओवेसी के विरोध का सामना करना पड़ रहा है. ओवैसी ने कहा है कि बतौर प्रधानमंत्री अयोध्या में भूमि पूजन कार्यक्रम में PM का शामिल होना प्रधानमंत्री के संवैधानिक शपथ का उल्लंघन होगा. AIMIM अध्यक्ष ओवैसी ने कहा कि धर्मनिरपेक्षता संविधान के बुनियादी ढांचे का हिस्सा है.

बांग्लादेश राम मंदिर निर्माण के खिलाफ, जानिए एतराज की वजह

5 अगस्त को अयोध्या में पीएम  राम मंदिर भूमि पूजन के कार्यक्रम में शिरकत करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 5 अगस्त को अयोध्या राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे. श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने इसके लिए पीएम मोदी सहित  राममंदिर आंदोलन से जुड़े कई लोगों को न्योता दिया है. कोरोना संक्रमण की वजह से अयोध्या में मेहमानों की संख्या 200 सीमित रखी गई है. 

प्रधानमंत्री आवास योजना: 6 बरस से यात्री प्रतीक्षालय में गुजार रहे है जिन्दगी

AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इस दौरे पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया है. ओवैसी ने लिखा, “प्रधानमंत्री का आधिकारिक रूप में भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होना उनके संवैधानिक शपथ का उल्लंघन होगा. धर्मनिरपेक्षता संविधान के मूल ढांचे का हिस्सा है.” ओवैसी ने कहा कि हम इस बात को नहीं भूल सकते हैं कि बाबरी 400 सालों तक अयोध्या में खड़ी थी और 1992 में इसे एक आपराधिक भीड़ ने ढहा दिया था.

फ्रांस से भरी राफेल ने उड़ान, 29 जुलाई को सेना के बेड़े में शामिल

Share.