बड़े हमले में 20 पुलिसकर्मियों की मौत

0

पश्चिमी अफगानिस्तान में तालिबान ने पुलिस के एक काफिले पर अचानक हमला कर दिया| इस हमले में 20  पुलिसकर्मियों की मौत हो गई| इस घटना की जानकारी अधिकारियों ने सोमवार को दी| एक अधिकारी ने बताया कि पुलिस का काफिला जिले के नवनियुक्त पुलिस प्रमुख का परिचय कराने जा रहा था तभी यह हमला हुआ|  हमले में नवनियुक्त प्रमुख की भी मौत हो गई| इस हमले की जिम्मेदारी तालिबान ने ली है|

वहीं अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में रहने वाले अल्पसंख्यक शिया समुदाय के लोग स्थानीय मिलीशिया कमांडर की गिरफ्तारी के विरोध कर रहे हैं| पिछले दो दिनों से यह जमकर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है| इस दौरान कुछ सडकें जाम कर दी गई हैं| यह विरोध प्रदर्शन पश्चिमी ग़ोर प्रांत में शिया मिलीशिया का नेतृत्व करने वाले अलीपूर की गिरफ्तारी के विरोध में किया जा रहा है|

इससे पहले 22 नवंबर को अफगानिस्तान में आतंकी हमले हुए थे, जिसमें कई लोगों की मौत हो गई थी| पिछले कुछ महीनों में काबुल में यह सबसे घातक हमला है| पैगंबर मोहम्मद के जन्मदिन के मौके पर एक विवाह हॉल में आयोजित उलेमा परिषद की एक सभा को निशाना बनाया गया| इस हमले में करीब 50 लोगों की मौत हो गई थी|

हमले के बारे में स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वाहिद मजरूह ने बताया कि इसमें लगभग 83 लोग घायल हो गए, जिनमें से 20 की हालत गंभीर बनी हुई है| इस हमले की जिम्मेदारी किसी भी संगठन ने नहीं ली थी| इस दर्दनाक हमले के बाद काबुल पुलिस प्रमुख के प्रवक्ता बशीर मुजाहिद ने बताया, “हमले के पीड़ित दुर्भाग्यवश धार्मिक विद्वान थे, जो पैगंबर मोहम्मद का जन्मदिन मनाने के लिए एकत्र हुए थे|”

Share.