दिल्ली पुलिस को न दी जाए सम्मान राशि

0

दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस के बीच कुछ ठीक नहीं चल रहा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर हुए कथित हमलों की जांच में पुलिस पर लचर रवैया अपनाने का आरोप लगा है। आप की सरकार के कई विधायकों को लगता है कि केंद्र सरकार के अधीन आने वाली दिल्ली पुलिस उसके नेताओं से संबंधित मामलों में न्यायपरक और जांच में लापरवाही करती है इसलिए दिल्ली सरकार के 21 विधायकों ने सीएम केजरीवाल को एक चिट्ठी लिखी है। 

आप की चिट्ठी

आप के विधायकों ने चिट्ठी में मांग की है कि दिल्ली सरकार कार्य के दौरान शहीद होने पर जवानों और अधिकारियों के परिवार को जो 1 करोड़ रुपए का मुआवजा देती है, वो दिल्ली पुलिस को न दिया जाए। इस चिट्ठी पर आप के 21 विधायकों ने अपने हस्ताक्षर किए हैं।

सरकार के खिलाफ साजिश

पत्र में लिखा है कि पिछले चार वर्ष में जब से दिल्ली में आप की सरकार बनी है, ऐसे बहुत सारे हादसे देखने में आए हैं, जो वास्तव में हादसे नहीं बल्कि एक सोची-समझी साजिश के तहत किए गए षड्यंत्र हैं। पिछले चार वर्ष में चार ऐसे बड़े हमले आप पर हुए हैं, जिसे नज़रअंदाज नहीं किया जा सकता है। इसमें पहला हमला सचिवालय के मीडिया सेंटर, दूसरा हमला छत्रसाल स्टेडियम में एक प्रोग्राम के दौरान, तीसरा हमला सिग्नेचर ब्रिज पर भाजपा सांसद मनोज तिवारी और उनके लाए गए गुंडों ने किया और चौथा हमला मंगलवार को सीएम की आंखों में मिर्च पाउडर डालना शामिल है।

कांग्रेस का आरोप

आप के 21 विधायकों की चिट्ठी पर कांग्रेस नेता अरविंदरसिंह लवली ने कहा कि यह चिट्टी खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लिखवाई है। आप सरकार दिल्ली में गवर्नेंस का स्तर लगातार गिरा रही है। यह बजट (एक करोड़ की सहायता राशि) कोई इनका व्यक्तिगत बजट नहीं है,यह दिल्ली की जनता का बजट है।

मनोज तिवारी : केजरीवाल ने खुद ही फिंकवाया मिर्च पाउडर!

अरविन्द केजरीवाल पर फेंका गया मिर्च पाउडर

केजरीवाल सरकार के मंत्री के 16 ठिकानों पर छापा

Share.