2019 गठबंधन से ‘आप’ ने किया किनारा

0

2019 की लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत की गाड़ी को रोकने के लिए विपक्ष एकजुट होने पर नहीं कतरा रही है।  मायावती से लेकर ममता बनर्जी तक, विपक्ष के सभी बड़े नेता नरेंद्र मोदी सरकार को हराने के लिए दोस्त बनते नज़र आ रहे हैं। वहीं आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविन्द केजरीवाल ने 2019 में विपक्ष के गठबंधन से खुद को दरकिनार कर लिया है। केजरीवाल का यह बयान एक तरह से चौंकाने वाले हैं।

आप नेता अरविन्द केजरीवाल का कहना है कि वे गठबंधन का हिस्सा नहीं बनेंगे। दिल्ली मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा है कि आम आदमी पार्टी 2019 में बीजेपी के खिलाफ संभावित महागठबंधन का वो हिस्सा नहीं बनेगी। केजरीवाल ने कहा कि जो पार्टियां संभावित महागठबंधन में शामिल हो रही हैं, उनकी देश के विकास में कोई भूमिका नहीं रही है। वहीं उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्र की भाजपा सरकार ने दिल्ली में कराए जाने वाले विकास कार्यों में रोड़े अटकाए हैं।

अरविन्द केजरीवाल ने  चुनाव लड़ने को लेकर भी अपनी बात स्पष्ट की। केजरीवाल ने यह साफ़ किया कि उनकी आम आदमी पार्टी हरियाणा में विधानसभा चुनाव के साथ-साथ लोकसभा की सभी सीटों पर भी चुनाव लड़ेगी, लेकिन वह गठबंधन का हिस्सा नहीं बनेगी। केजरीवाल ने दिल्ली के रुके हुए कामों के लिए केन्द्र की मोदी सरकार को ज़िम्मेदार ठहराया और कहा कि उनके हर उस कदम को रोका गया जो आम जनता की भलाई के लिए कहा था। उन्होंने दावा किया, ‘हमने दिल्ली में शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्रों में क्रांतिकारी काम किए हैं।’

वहीं मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने ने कहा कि भाजपा धर्म के नाम पर सिर्फ दिखावा कर रही है। उसे लोगों की भावनाओं से कोई लेना-देना नहीं है। भाजपा पर गंभीर आरोप लगाते हुए उन्होंने दिल्ली में हुए विकास कार्यों की भी चर्चा की।

Share.