कविता से जताया अविश्वास

0

संसद में मॉनसून सत्र के तीसरे दिन जमकर हंगामा हुआ| सदन में शुक्रवार को विपक्ष ने सरकार के विरोध में अविश्वास प्रस्ताव पेश किया| अविश्वास प्रस्ताव से भले ही विपक्ष को मुंह की खानी पड़ी, लेकिन कई सांसदों ने भाजपा सरकार और पीएम मोदी के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली| ‘आप’ के सांसद ने मोदी सरकार के खिलाफ कविता से अविश्वास जताया |

अलग अंदाज़ में कविता से जताया अविश्वास

आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान ने सरकार का विरोध करने के लिए अलग अंदाज़ अपनाया| उन्होंने कविता के जरिये अपने सारे सवाल सदन में रखे| उन्होंने मौके का फायदा उठाते हुए एलजी से लेकर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा और पूछा कि मोदी जी 4-5 महीनों में आप जाने वाले हैं, अब तो बता दो कि अच्छे दिन कब आने वाले हैं?

बढ़ती महंगाई पर सवाल

सांसद भगवंत ने महंगाई को लेकर भी केंद्र पर प्रहार किया| उन्होंने कहा, “इस सरकार में कीमतें आसमान छू रही हैं, जबकि महंगाई को कम करने का वादा लेकर ही यह सरकार सत्ता में आई थी| मान ने यह भी कहा, प्रधानमंत्री के दिल में अल्पसंख्यकों के लिए कोई जगह नहीं है| देश के लिए यह विभाजन की राजनीति बहुत खतरनाक है|”

उन्होंने आगे कहा, “दिल्ली को देश का हिस्सा नहीं मानते? दिल्ली में चुना हुआ मुख्यमंत्री नौ दिनों तक एलजी के आवास पर मिलने के लिए बैठे रहे, मगर नौ मिनट तक नहीं मिले| क्या यह लोकतंत्र है ? चार राज्यों के मुख्यमंत्री आए, उनसे भी एलजी नहीं मिले| एलजी जिस आवास में रहते हैं, वहां पहले वायसराय रहते थे| लगता है कि एलजी साहब के भीतर वायसराय की आत्मा घुस गई है| क्या लाट साहब के डंडे से दिल्ली चलाओगे| क्या यही लोकतंत्र है| ये गोवा में भी और अरुणाचल प्रदेश में भी यही करते हैं|”

सांसद भगवंत मान की कविता –

बात चली थी भारत को डिजिटल इंडिया बनाने से
बात चली थी भारत को डिजिटल इंडिया बनाने से
बात चली थी एक के बदले 10 सर काटकर लाने से
बात चली थी बुलेट ट्रेन चलाने से
बात चली थी 56 इंच का सीना दिखाने से
बात चली थी न खाने से न खिलाने से
कहां गई वो 100 दिन में काले धन की बात
पिछले 4 साल से देश की जनता सुन रही है रेडियो पर सिर्फ मन की बात
चौकीदार देख रहा है और लोग बैंक को चूना लगाकर भगौड़े हो रहे हैं
और लाखों पढ़े-लिखे नौजवानों के सपने आंखों के सामने पकौड़े हो रहे हैं
अब तो साहब के ऑफिस से मेन्यू बन कर आता है कि हमने क्या पहनना है और हम क्या खाने वाले हैं
मोदी जी अगले 6-7 महीने में आप जाने वाले हैं, कृपया जाते-जाते ही बता दीजिए अच्छे दिन कब आने वाले हैं|

Share.