अस्पताल में नवजात सहित 8 लोग जिंदा जले

0

मुंबई के कर्मचारी राज्य बीमा निगम के अस्पताल में सोमवार 17 दिसंबर की शाम लगी भीषण आग में 8 लोगों की मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार, इस आग की चपेट में 142 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से झुलस गए। मुंबई के अंधेरी इलाके में स्थित कामगार अस्पताल में अचानक लगी इस आग में मरने वालों की संख्या में लगातार वृद्धि होती रही है। जानकारी मिली है कि मरने वालों में 2 माह का एक नवजात भी शामिल है। फिलहाल अस्पताल में लगी इस आग से 147 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है। 

अंधेरी के कामगार अस्पताल में लगी आग में मरने वाले लोगों के परिजन को 10-10 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा केंद्रीय श्रम मंत्री संतोष गंगवार ने की है। श्रम मंत्रालय की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि इस हादसे का शिकार हुए लोगों के परिवार को सरकार 10-10 लाख रुपए मुआवजे के तौर पर देगी। वहीं जो इस आग में झुलसकर गंभीर रूप से घायल हुए हैं, उन्हें 2-2 लाख रुपए और मामूली रूप से घायल हुए लोगों को 1-1 लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की गई है।

अस्पताल में आग सोमवार शाम तकरीबन 4 बजे लगी। फिलहाल आग लगने की वजह सामने नहीं आ सकी है। आग की सूचना मिलने पर तत्काल ही 10 फायर ब्रिगेड की गाड़ियों सहित 10 एम्बुलेंस और 1 रेस्क्यू वैन मौके पर पहुंच गई। राहत व बचाव दल ने कार्य शुरू किया और लोगों को आग से बचाने में जुट गए। राहत व बचाव दल अभी भी लोगों को निकाल रहे हैं। आग में गंभीर रूप से झुलसे 7 लोगों को ट्रॉमा अस्पताल में इलाज के लिए दाखिल किया गया है। वहीं 30 लोगों को सेवन हिल्स अस्पताल में, 40 लोगों को होली स्पिरिट अस्पताल में, 15 लोगों को कूपर अस्पताल में और अन्य 23 लोगों को जोगेश्वरी स्थित पी ठाकरे अस्पताल में दाखिल किया गया है।

स्थानीय अधिकारी भी मौके पर पहुंच चुके हैं और आग पर काबू पाने का कार्य जारी है। वहीं बचाव दल भी लगातार लोगों को अस्पताल से बाहर निकाल रहे हैं। इस हादसे के बारे में मेयर वी. मादेश्वर ने कहा, ‘हादसे की वजह पता नहीं चल पाई है। महाराष्ट्र इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन फायर ऑडिट करता है। उन्होंने ऑडिट किया था या नहीं, इसकी जांच की जाएगी।’

सलमान चोटिल, मुंबई हुए रवाना!

मुंबई पुलिस ने रोकी शाहरुख की पार्टी

Video: मुंबई में झुग्गियों में भीषण आग, दमकल की 12 गाड़ियां पहुंचीं

Share.