सैलरी न मिलने पर 7 भारतीयों को बनाया बंधक

0

अफ्रीका के इथोपिया में एक भारतीय कंपनी IL&FS के 7 कर्मचारियों को वहां के लोकल कर्मचारियों ने बंधक बना लिया। बताया जा रहा है कि यह भारतीय कम्पनी पैसों की तंगी से जूझ रही है और अपने कर्मचारियों को वेतन नहीं दे पा रही है। बीते 24 नवंबर से इन 7 भारतीय नागरिकों को बंधक बना कर रखा गया है। जानकारी के मुताबिक, सैलरी नहीं मिलने से नाराज़ लोकल कर्मचारियों ने भारतीय कर्मचारियों को बंधक बना लिया।

विदेश मंत्रालय ने जानकारी देते हुए कहा कि मामले की जांच की जा रही है। एक अधिकारी ने ई-मेल के माध्यम से सूचना दी कि कुछ दिन पहले कंपनी को कुछ रोड प्रोजेक्ट मिले थे, जिन्हें बाद में रद्द कर दिया गया। इन प्रोजेक्ट्स पर भारत और स्पेन की कंपनी मिलकर काम कर रही थी। हो सकता है प्रोजेक्ट रद्द हो जाने पर कंपनी के कर्मचारी नाराज़ हो गए हों और उन्होंने यह कदम उठाया हो।

भारतीय नागरिकों व कंपनी के कर्मचारियों को बंधक बनाने का मामला तब सामने आया, जब बंधक बनाए गए एक कर्मचारी चैतन्य हरि की ओर से भारतीय अधिकारियों को एक ट्वीट मिला। अपने ट्वीट में चैतन्य ने भारतीय अधिकारियों से मदद मांगी थी। इसके बाद बाकी कर्मचारियों द्वारा भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति भवन एवं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को मदद के लिए ट्वीट किया। पीएम मोदी, राष्ट्रपति भवन और सुषमा स्वराज के ट्विटर पर इन कर्मचारियों द्वारा ट्वीट किया गया और मदद के लिए गुहार लगाई गई। कर्मचारियों का कहना है कि अभी तक उनकी मदद के लिए कोई भी आगे नहीं आया।

Share.