6.7 तीव्रता के भूकंप में 120 लोग घायल, 19 लापता

0

जापान का दूसरा सबसे बड़ा उत्तरी द्वीप होक्काइडो प्राकृतिक आपदा से जूझ रहा है। यहां गुरुवार को 6.7 तीव्रता के  भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। तेज भूकंप की वजह से भूस्खलन हुआ, जिसकी चपेट में आने से 120 लोग घायल हो गए और 19 लोग लापता हैं। अमरीकी भूगर्भ विज्ञान सर्वेक्षण ने बताया कि भूकंप का अधिकेन्द्र बेहद कम गहराई पर होक्काइडो द्वीप की क्षेत्रीय राजधानी साप्पोरो से करीब 62 किलोमीटर की दूरी पर था।

जापान के अत्सुमा शहर के ग्रामीण क्षेत्र में पर्वतश्रेणी के साथ लंबी दूरी तक भूस्खलन की खबरें आई हैं। भूकंप और भूस्खलन के कारण किसी भी मौत की खबर नहीं है। हालांकि एक व्यक्ति की सीढ़ियों से गिरने के बाद दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई।

अधिकांश बिजली संयंत्र जीवाश्म ईंधन से चलते है, लेकिन भूस्खलन के कारण जीवाश्म ईंधन से चलने वाले सभी बिजली संयंत्रों को आपात स्थिति में बंद कर दिया, जिससे होक्काइडो द्वीप में बिजली आपूर्ति ठप हो गई। इसी के चलते 2.95 लाख घरों में बिजली आपूर्ति बंद हो चुकी है, जिसे सुचारू करने के प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन बिजली विभाग द्वारा यह साफ नहीं हो सका है कि कब तक बिजली आपूर्ति शुरू हो जाएगी।

जापान के व्यापार एवं उद्योग मंत्री हिरोशिगे सेको ने कहा कि “मंत्रालय ने होक्काइडो बिजली कंपनी को कुछ घंटे के भीतर टोमेटो-अत्सुमा बिजली संयंत्र को फिर से शुरू करने के निर्देश दिए हैं।” जापान के मौसम विभाग के मुताबिक सुनामी का कोई खतरा नहीं है, लेकिन भूकंप के कारण होक्काइडो द्वीप की यातायात सेवा ठप हो गई है। हवाई अड्डा भी बंद किया जा चुका है। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि “अधिकारियों को शुक्रवार से कंसई हवाई अड्डे पर घरेलू उड़ानें शुरू किए जाने की उम्मीद है।”

Share.