अफगानिस्तान : विस्फोट से कइयों की मौत

1

आतंकी गतिविधियों का गढ़ बन चुका अफगानिस्तान एक बार फिर दहल उठा| वहां मंगलवार को हुए आत्मघाती हमले में कई लोगों की मौत होने से शोक का माहौल है| यह हमला धार्मिक सभा को निशाना बनाकर किया गया, जिसमें कई लोग शामिल हुए थे| पिछले कुछ महीनों में काबुल में यह सबसे घातक हमला है| पैगंबर मोहम्मद के जन्मदिन के मौके पर एक विवाह हॉल में आयोजित उलेमा परिषद की एक सभा को निशाना बनाया गया|

जानकारी के अनुसार, मंगलवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में आत्मघाती हमलावर ने बड़ी संख्या में एकत्र इस्लामी विद्वानों को निशाना बनाकर ब्लास्ट कर दिया, जिससे लगभग 50 लोगों की मौत हो गई  वहीं कई लोग घायल भी हो गए| हमले के बारे में स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता वाहिद मजरूह ने बताया कि इसमें लगभग 83 लोग घायल हो गए, जिनमें से 20 की हालत गंभीर बनी हुई है|

किसने किया हमला?

अभी तक किसी ने भी हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है| इसके बारे में काबुल पुलिस प्रमुख के प्रवक्ता बशीर मुजाहिद ने बताया, “हमले के पीड़ित दुर्भाग्यवश धार्मिक विद्वान थे, जो पैगंबर मोहम्मद का जन्मदिन मनाने के लिए एकत्र हुए थे|” वहीं राष्ट्रपति अशरफ गनी ने इस घटना की निंदा करते हुए इसे इस्लामी मूल्यों और पैगंबर मोहम्मद के अनुयायियों पर हमला बताया|

Share.