हिमाचल में ट्रैकिंग पर गए आईआईटी रुड़की के 35 छात्र लापता

0

हिमाचल प्रदेश में बारिश ने लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। नदी-नाले उफान पर हैं। भारी बर्फबारी के कारण हिमाचल में अब तक 45 लोग लापता हो चुके हैं, जिनमें 2 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। लापता लोगों में लाहौल-स्पीति में ट्रैकिंग पर गए आईआईटी रुड़की के 35 विद्यार्थी शामिल हैं। लापता दल में शामिल एक छात्र अंकित भाटी के पिता राजवीरसिंह ने कहा कि सभी ट्रैकिंग के लिए हम्पता पास पर गए थे। वे सभी मनाली लौटने वाले थे, लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है।

8 लोग लापता

हालांकि ग्रुप के किसी भी सदस्य से संपर्क नहीं हो पाया है। इसके साथ ही लाहौल स्पीति गए 8 लोगों के एक ग्रुप से भी संपर्क नहीं हो पाया है। इसमें नीदरलैंड का एक शख्स एबी लिम, ब्रुनेई की महिला संजीदा तुबा, प्रियंका वोरा, पायस देसाई, दीपिका, अशोक, अभिनव चंदेल और दिव्या अग्रवाल है।

स्कूल बंद

बता दें कि हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश और बर्फबारी हुई है। सोमवार को राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात हैं। वहीं कई जगहों पर भूस्खलन की घटनाएं भी हुई हैं। मंगलवार को कांगड़ा, कुल्लू और हमीरपुर जिलों में स्कूल बंद रखे गए हैं। ब्यास नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर चुका है। बाढ़ के कारण कई घर भी बह गए हैं।

पंजाब में रेड अलर्ट

इधर, लगातार बारिश से उत्तर भारत, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है। पंजाब सरकार ने गंभीर हालातों को देखते हुए रेड अलर्ट जारी कर दिया है। मुख्यमंत्री अमरिंदरसिंह ने प्रदेश के लोगों से अगले 24 घंटे घर से न निकलने को कहा है। पंजाब में मंगलवार को भी शैक्षणिक संस्थान बंद रखने के आदेश दिए हैं। चंडीगढ़ में सुखना झील का पानी खतरे के निशान को पार कर गया है।

Share.