हिमाचल प्रदेश: बर्फ में फंसे 26 पर्यटकों को सुरक्षित निकाला

0

हिमाचल प्रदेश में प्राकृतिक आपदा के कारण कई लोग बर्फ के बीच फंस गए थे| इसके बाद भारतीय वायुसेना के जवानों द्वारा बचाव अभियान शुरू किया गया| जवानों ने शुक्रवार को चौथे दिन अपना बचाव अभियान फिर से शुरू किया| उन्होंने लाहौल घाटी में फंसे 26 पर्यटकों को निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया| ये लोग लगभग एक सप्ताह से बर्फ़बारी में फंसे हुए थे| क्षेत्र में भारी बर्फबारी के कारण आए भूस्खलन से 22 सितंबर से लाहौल-स्पीति जिले में सड़क संपर्क मार्ग अन्‍य क्षेत्रों से कटा हुआ है|

अब तक 1,350 लोगों को सुरक्षित बचाया

पिछले चार दिन से चल रहे बचाव कार्य में सेना ने अब तक 1,350 लोगों को बचा लिया| इनमें 30 से ज्यादा विदेशी लोग भी शामिल हैं| आज बचाए गए लोग कुंजम दर्रा के पास छोटा दर्रा में फंसे हुए थे| वहीं ‘सीमा सड़क संगठन’ (बीआरओ) द्वारा बड़ालाचा दर्रा और केलांग जिला मुख्यालय के बीच परिवहन बहाल करने के लिए बर्फ हटाने का काम किया जा रहा है|

बड़ी संख्या में पर्यटक फंसे होने की आशंका

ऐसा कहा जा रहा है कि बड़ालाचा दर्रा के पास बड़ी संख्‍या में पर्यटक और ट्रक चालक फंसे हुए हैं| उन्हें बचाने के लिए भी कोशिशें की जा रही हैं| वहीं सूरज ताल झील के पास से भी बड़ी संख्या में लोगों को बचाया गया| राज्य के जनजातीय विकास मंत्री रामलाल मर्कंडा ने बताया कि सरचु और दारचा में फंसे 200-300 लोगों को बचाया गया| उन्होंने आगे कहा कि चंद्रताल झील के पास फंसे लोगों का पता लगाने के लिए बचाव दल की एक टीम अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट विक्रम सिंह नेगी की अगुवाई में 16 घंटे की कठिन यात्रा के बाद गुरुवार को 45 पर्यटकों को सुरक्षित निकला गया| फिलहाल बचाव कार्य जारी है|

Share.