पाक उच्चायोग से सिखों के पासपोर्ट गायब

0

पाकिस्तान उच्चायोग से 23 भारतीय सिखों के पासपोर्ट गायब होने की ख़बर है। ये पासपोर्ट उन सिखों के हैं, जो तीर्थयात्रा के लिए पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारों में जाने वाले थे। इनमें करतारपुर साहिब भी शामिल हैं, जिसके गलियारे का शिलान्यास कुछ वक्त पहले ही भारत और पाकिस्तान ने किया है।

विदेश मंत्रालय ने मामले का संज्ञान लिया है। मंत्रालय अब इन सभी पासपोर्ट्स को रद्द करने की तैयारी में है। पासपोर्ट गायब होने के बाद कई लोगों ने पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है। इस मसले को पाकिस्तान उच्चायोग के समक्ष भी पेश किया जाएगा। पाकिस्तान की ओर से 21 से 30 नवंबर के बीच 3,800 सिख तीर्थयात्रियों को वीज़ा दिया था। गुरुनानक की 549वीं जयंती के मौके पर यह वीज़ा जारी किए गए थे।

पुलिसवालों ने फर्जी कागजों पर बनवाए असली पासपोर्ट

पुलिस थाने में पासपोर्ट गायब होने की शिकायत करने वाले 23 यात्री उन 3800 यात्रियों में ही शामिल हैं, जिन्हें पाकिस्तान ने वीज़ा जारी किया था। गायब हुए पासपोर्ट दिल्ली के एक एजेंट ने लिए थे। उसका दावा है कि उसने पाकिस्तान के उच्चायोग में दस्तावेजों को जमा किया था। पाकिस्तान ने इस घटना में अपने किसी भी अधिकारी के शामिल होने से इनकार कर दिया है।

भारतीय अथॉरिटी को शिकायत करते हुए एजेंट ने बताया कि पासपोर्ट जमा कराने के बाद जब वह उसे लेने गया तो पाक उच्चायोग ने पासपोर्ट होने की बात से ही इनकार कर दिया।

अब पाकिस्तानी लोगों को देना होगा ‘पाप टैक्स’

पाकिस्तान के दिग्गज ऑलराउंडर ने लिया संन्यास

सिद्धू ने बताया, किसके कहने पर गए थे पाकिस्तान

Share.